about us

 

 

हमारे बारे में

नामरूप उर्वरक परिसर, तत्कालीन हिंदुस्तान फर्टिलाइजर कॉरपोरेशन लिमिटेड से द्विभाजन के बाद 1 अप्रैल , 2002 के प्रभाव से ब्रह्मपुत्र वैली फर्टिलाइजर कॉरपोरेशन लिमिटेड नामकरण किया गया ,  जो असम के डिब्रूगढ़ जिले के दक्षिण-पश्चिमी सीमा में नदी दिल्ली के तट पर स्थित है।  यह भारतवर्ष में अपनी तरह का पहला कारखाना है जो नाइट्रोजन उर्वरक के उत्पाटन के लिए बुनियादी कच्चे माल के रूप में संबद्ध प्राकृतिक गैस  का उपयोग करता है।

साठ के दशक की शुरुआत तक, नामरूप एक सुषुप्त ग्राम के रूप में था , जिसके बारे में  देश के अन्य भाग के लोगों को बहुत कम जानकारी थी । नाहरकटिया क्षेत्र में तेल और प्राकृतिक गैस की खोज ने गैस के समुचित उपयोग के लिए गम्भीर चिंतन को प्रोन्नत किया जो अन्यथा बेकार में जला दिया  जाता था ।

अमेरिका के मेसर्स स्नोदग्रास एसोसियट  की सिफ़ारिश के परिणामस्वरूप,  जिसमें इस प्रच्छन्न कोष  की उपयोग से रासायनिक उर्वरकों और बिजली उत्पादन करने के सुझाव गिया गया था,  , तत्कालीन   खान एवं  ईधन मंत्रालय ने  श्री एस.एस. खेड़ा, आई सी एस की अध्यक्षता में  एक समिति नियुक्त की और इस समिति की व्यापक सिफ़ारिश के आधार पर डॉ जी पी काने  की अध्यक्षता में गठित एक तकनीकी समिति ने असम में प्राकृतिक गैस  से एक उर्वरक कारख़ाना  स्थापित करने की संभावना के बारे में पुन:  अध्ययन किया , जबकि केंद्रीय जल एवं शक्ति  आयोग को  एक बिजली परियोजना स्थापित करने की सम्भावना को पता लगाने का दायित्व दिया  गया ।

विस्तृत तकनीकी-आर्थिक अध्ययन करने के बाद काने  समिति ने  नामरूप में एक उर्वरक कारख़ाना स्थापित करने की सिफ़ारिश की।   केंद्रीय जल एवं शक्ति  आयोग ने नामरूप उर्वरक कारख़ाना से  कम ही दूरी पर एक ताप बिजली कारख़ाना स्थापित करने की सिफ़ारिश की ।

स्थान

स्थिति सूचना

ब्रह्मपुत्र वैली फर्टिलाइजर कारपोरेशन लिमिटेड (बीवीएफसीएल) डिब्रूगढ़ जिले के दक्षिण पूर्वी सीमा में असम के सुदूर पूर्वी भाग में स्थित है। इसके अक्षांश और देशांतर हैं 27 0 10 / उत्तर एवं 95 0 21 / पूर्व क्रमशः और माध्य समुद्र तल से 123 मीटर की ऊंचाई पर स्थित है

जलवायवीय और मौसम विज्ञान विवरण इस प्रकार हैं:

जलवायु हालत वृष्टिपात
वर्षा 220.65 मिमी (औसत वार्षिक)
तापमान मध्य ग्रीष्मकालीन – 30.6 हे सी
मध्य मानसून – 29.2 हे सी
मध्य शीतकालीन – 12.3 हे सी
हवा की गति एवं दिशा हवा की गति मध्य – 2.3 कि.मी / घंटा।
शांत – 6 से 7%, उ. – 6%, उ.पू. – 10%, पू. – 9%,
द.पू. – 1%, द. – 2%, प.द. – 2%, प. – 1%
नमी औसत सापेक्ष आर्द्रता – 83%,
मानसून के दौरान – 100%
शीतकालीन के दौरान – 60%

 

कॉर्पोरेट प्रोफाईल :

शुभारम्भनामरूपI

सन 1960 के मध्यभाग में नामरूप I संयंत्रों समुह के परियोजना के लिए हिंदुस्तान केमिकल्स एंड  फर्टिलाइजरस, जो 1 जनवरी, 1961 में फर्टिलाइजर कॉरपोरेशन अफ ईंडिया में सन्मिलित हुआ ,  द्वारा योजना शुरूआत की गयी थी। विभिन्न बाधाओं को सफलतापूर्वक पार  करने के बाद पहला जनवरी, 1966 को असम के तबक़े  मुख्यमंत्री स्व. बी पी चलिहाजी  द्वारा नामरूपI  कारख़ाना का नींव रखा गया ।  अगस्त, 1968 में कारख़ाना पूर्ण रूप में चलने लगा । पहला जनवरी, 1969 में कारख़ाना के व्यावसायिक उत्पाटन घोषित  किया गया  । नामरूपI  का वार्षिक उत्पाटन क्षमता था 55000 में.टन यूरिया और 10000 में. टन ऑमोनियम सालफेट और इसमें  लागत पूंजी ` 6.36 करोड़ विदेशी मुद्रा सहित  ` 24.96 करोड़ था ।      

 

विस्तार – नामरूप II

नामरूप – 1 के संचालन सफल रूप से चलने के समय यह देखा गया कि ऑयल इंडिया के निकटवर्ती मोरान – नाहरकटिया   तेल क्षेत्र में काफी मात्रा में प्राकृतिक गैस है । भारत सरकार ने इस समूहित  प्राकृतिक गैस के लाभदायक उपयोगिता के लिए नामरूप द्वितीय इकाई स्थापना की निर्णय ली जिसमें पुंजी निवेश रू .23.60 करोड़ की विदेशी मुद्रा सहित 74.60 करोड़ रुपये था।

1976 में नामरूप द्वितीय इकाई का  व्यावसायिक उत्पाटन यूरिया की 3,30,000 मीट्रिक टन की वार्षिक क्षमता के साथ शुरू हुआ ।

विवर्धन : नामरूपIII

मोरान – नाहरकटिया   एवं लाकुवा तेल क्षेत्र में प्रचुर प्राकृतिक गैस के उपलब्धता से नामरूप तृतीय इकाई की स्थापना की संयोजना की जिसमें रू .58.67 करोड़ की विदेशी मुद्रा सहित लागत पुंजी 285.55 करोड़ रुपये था । नामरूप तृतीय इकाई का व्यावसायिक उत्पाटन वार्षिक क्षमता 3,85,,000 में. टन यूरिया से 1987 सन में  शुरू हुआ ।

कायाकल्प:

डिज़ाइन सम्बंधित हार्डवेयर / उपकरण समस्याओं के लिए लगातार नुकशान होने के कारण इकाईयों के निष्पादन में सुधार की आवश्यकता थी । सन 1994 से नामरूप II इकाई बंध पड़ी थी जिसमें काफी अधिक मरम्मत तथा कुछ उपकरणों के प्रतिस्थापन ज़रूरी थी । नामरूप I और नामरूप III ठीकठाक चल रहे थे पर इनके निष्पादन में भी उन्नति करण ज़रूरी थी ।

संयंत्रो के निष्पादन तथा उपकरणों के बिगाड़ के ऐतिहासिक ऑकड़े के आधार पर पुनर्गठन योजना का अंतिम रूप दे दिया गया । योजना को अंतिम रूप देने से पहले विभिन्न सरकारी समितियों और भी इंजीनियरिंग ठेकेदार द्वारा की गई संयंत्र सुधार अध्ययन रिपोर्टों को भी अध्ययन किया गया।

सुधार योजना का उद्देश्य एक निश्चित अवधि और समग्र परियोजना लागत अनुमान के अंदर इकाई के आर्थिक संचालन के लिए संयंत्र के प्रदर्शन के कुछ न्यूनतम स्तर को प्राप्त करना था ।

इस तरह परामर्श सेवाओं के एक प्रमुख एजेंसी तथा भारत सरकार का उपक्रम, प्रोजेक्ट्स एंड डेवलपमेंट इंडिया लिमिटेड (पीडीआईएल), को , नामरूप संयत्रों  के सुधार के लिए लिए एकक बिंदु जिम्मेदारी सहित परामर्शों के मुख्य ठेकेदार के रूप में नियुक्त किया गया । पीडीआईएल मूल डिजाइन और प्रमुख क्षेत्रों में इंजीनियरिंग के संबंध में अपनी सहयोगी लाइसेंसधारी  HTAS, SNAM PROGETTI और GV से प्रमुख क्षेत्रों में ज़रूरी बुनियादी डिज़ाइन  तथा अभियांत्रिक के मुद्दे पर मदद ली । एचएफसीएल (अब बीवीएफसीएल) और पीडीआईएल के बीच अनुबंध पर हस्ताक्षर किए गए और अनुबंध की प्रभावी तिथि 2 नवम्बर, 1998 को निर्धारित की गयी ।

 

कायाकल्प के बाद

इकाई वार्षिक क्षमता
नामरूप -II यूरिया की 2,40,000 मीट्रिक टन
अमोनिया की 1,44,000 मीट्रिक टन
नामरूप -III यूरिया की 3,15,000 मीट्रिक टन
अमोनिया की 1,67,400 मीट्रिक टन

 

ऊद्देश्य

बीवीएफसीएल के  निम्नलिखित उद्देश्य हैं:

  1. पर्यावरण की दृष्टि से सही तरीके से दक्षतापूर्ण और किफायती रूप से  उर्वरक का उत्पादन और उसका विपणन ।
  2. सभी गतिविधि  में दक्षता और उत्पादकता के इष्टतम स्तर को बनाए रखना और  प्रौद्योगिकी को अपग्रेड करना ।
  3. ऊर्जा बचत की योजनाओं को लागू करते हुए उत्पादों के विशिष्ट ऊर्जा खपत में कमी लाना ।
  4. संयंत्र प्रचालन की सुरक्षा में लगातार सुधार करना ।
  5. वर्ष 2017-18  के दौरान यूरिया उत्पादन क्षमता उपयोग में वृद्धि प्राप्त करना ।
  6. कंपनी के मानव संसाधन की गुणवत्ता में लगातार उन्नति करना और  संगठन के विकास को बढ़ावा देना ।

 

कार्यकारी अधिकारियों का प्रोफाइल

अध्यक्ष एवं प्रबंध निदेशक, श्री एस. डी. सिंह

श्री एस. डी. सिंह ने  बी आई टी, सिंदरी, धनबाद से 1984 सन में केमिकल इंजीनियरी  की स्नातक  उपाधि ली । उन्होने 1985  में भारतीय खनन्  संस्थान , धनबाद , से खनन् इंजीनियरी में स्नातकोत्तर डिप्लोमा की उपाधि हासिल की । उन्होने नवम्बर,1985 में प्रबंधन प्रशिक्षणार्थी के रूप में हिंदुस्तान फर्टिलाइजर कॉर्पोरेशन लिमिटेड (एच एफ सी एल) के बरौनी इकाई में कर्म जीवन की शुरुआत की और जनवरी, 2002 में नामरूप फर्टिलाइजर इकाई में योगदान किया । एच. एफ. सी. एल. और बी. वी. एफ. सी. एल. में 32 वर्षों के अपने कार्यकाल के दौरान  उन्होंने  सामग्री प्रबंधन के अंतर्गत ख़रीद, भंडार , मालसूची नियंत्रण , परिवहन एवं निपटान आदि विषयों पर काफी अनुभव प्राप्त  किया ।  उन्होंने ई-खरीद को लागू करने, खरीद मैनुअल की  तैयारी करने और बीवीएफसीएल के पूर्व योग्य विक्रेताओं का डेटाबेस  को अद्यतन करने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाया । श्री सिंह ने 01.10.2012 से बी. वी. एफ. सी. एल. के निदेशक (उत्पादन) का पद भार ग्रहण किया , साथ ही साथ   01.10.2012 से  अध्यक्ष एवं   प्रबंध निदेशक का अतिरिक्त भार भी सँभाला  ।  वे अब 29/09/2017 से कम्पनी के अध्यक्ष एवं   प्रबंध निदेशक का पद भार ग्रहण कर लिए हैं ।  श्री सिंह भारत के  उर्वरक एसोसिएशन के निदेशक मंडली के एक सदस्य हैं ।

निदेशक (वित्त) , श्री आर. के. चन्डोक

श्री राजीव कुमार चन्डोक 19 दिसम्बर, 2016 से कम्पनी के निदेशक (वित्त) पद का अतिरिक्त कार्यभार ग्रहण किया है । पेशे से एक चार्टरित लेखापाल , श्री चंन्डोक उर्वरक और शक्ति क्षेत्र में 22 वर्ष से अधिक काल के विशाल अनुभव से निविष्ट हैं ।

श्री चन्डोक वर्तमान नेशनल फर्टिलाइजर्स लिमिटेड के निदेशक (वित्त) पद पर कम्पनी के वित्त तथा लेखा कार्यों के समग्र प्रभारी हैं , और इनसे सम्बंधी नीतिओं को विकसित तथा सूत्रित करना और नीतिओं के कार्यान्वयन के लिए जिम्मेदार हैं । वित्तीय योजना, बजट, लागत निर्धारण, बैंक, वित्तीय संस्थान, पूंजी बाजार तथा बाहरी वाणिज्यिक उधारी आदि से संसाधन संग्रहण, वित्तीय नियंत्रण, मासिक/त्रैमासिक/वार्षिक वित्तीय विवरणों की तैयारी और सांविधिक एवं कार्पोरेट मानकों के अनुपालन के लिए भी वे जिम्मेदार हैं । इनके अलावा  वे  कम्पनी सचिवालय , कानूनी विभाग , सूचना प्रौद्योगिकी,  आंतरिक लेखापरीक्षा, और प्रबंधन सेवा कार्यों के भी जिम्मेदार हैं । एक टीम लीडर के रूप में वे टीम सदस्यों को बेहतर विचारों के लिए अक्सर प्रोत्साहित करते हैं जिसके द्वारा उत्पादकता को बढ़ावा मिलता है ।

एन एफ एल से पहले, वे पावर फाइनेंस कार्पोरेशन (पी. एफ. सी.) में महा प्रबंधक (वित्त) के पद पर थे , और, पी. एफ. सी. से पहले वे नेशनेल हाइड्रो इलेक्ट्रिक पावर कार्पोरेशन (एन. एच. पी. सी.) में भी काम किया ।

शक्ति और उर्वरक उद्योगों की विशाल पेशेवर अनुभव से श्री चन्डोक उद्योग से सम्बंधी विभिन्न मुद्दों के साथ परिचित है । उनके नेतृत्व में एन. एफ. एल. विगत 10 साल के दौरान सर्वाधिक यूरिया उत्पादन , सर्वाधिक कराधान से पूर्व लाभ तथा अन्य ख्याति अर्जित करने में सफल हुआ है ।

परियोजना मूल्यांकन तकनीक में श्री चन्डोक की विशेषज्ञता उद्योग , प्रबंधन क्षेत्र तथा विभिन्न पेशेवर संस्थान जैसे पी. एम. आई. (PMI) , ए. एस. सी. आई. (ASCI), आई. आई. एफ. टी. (IIFT), सी. आई. आई. (CII), फिक्की (FICCI) में मान्यता प्राप्त है । उन्होने भारत और विदेश में विशेष रूप में परियोजना वित्तपोषण, जोखिम विश्लेषण और नेतृत्व पर आयोजित विभिन्न पेशेवर कार्यक्रम में अंश ग्रहण किया है ।

मुख्य सतर्कता अधिकारी, श्री प्रभास कुमार

श्री प्रभास कुमार (1988 आई.डी.एस.ई.) रसायन एवं उर्वरक मंत्रालय के उर्वरक विभाग में एक निदेशक के रूप में प्रतिनियुक्त हैं । वे वर्तमान बी वी एफ सी एल के मुख्य सतर्कता अधिकारी के अतिरिक्त भार संभाल रहे हैं ।

उप सचिव (बजट), उर्वरक विभाग , श्री एस. एम. गुप्ता

श्री एस. एम. गुप्ता  केंद्रीय सचिवालय सेवा (सीएसएस) के अधिकारी हैं और वर्तमान में वे  उर्वरक विभाग में उप सचिव (बजट) के पद पर नियुक्त हैं । उन्होंने जीव-विज्ञान, वनस्पति- विज्ञान और रसायन विज्ञान के साथ स्नातक उपाधि प्राप्त की । इसके अलावा, उन्होंने लखनऊ विश्वविद्यालय, लखनऊ से फ्रेंच भाषा में प्रवीणता के साथ साथ  विदेश मामलों और कूटनीति में डिप्लोमा की उपाधि ली हैं ।

श्री गुप्ता उर्वरक विभाग में उप सचिव के पद पर नियुक्त  होने से पहले रक्षा मंत्रालय, खाद्य और सार्वजनिक वितरण और वित्त मंत्रालय जैसे विभिन्न मंत्रालयों में कार्य किया है। उन्हें 30 से अधिक सालों का अनुभव है । सर्वप्रथम, वे रक्षा मंत्रालय में  एक रक्षा सार्वजनिक उपक्रम  मझगांव डॉक लिमिटेड के स्थापना विषयों पर और तटरक्षक बल के लिए पूंजी  अधिग्रहण पर काम किया । द्वितीय,  खाद्य और सार्वजनिक वितरण मंत्रालय में केंद्रीय पुल के लिए गेहूँ और चावल खरीदने  के लिए नीतिगत मामलों को संभाला और अंत में वित्त मंत्रालय में उन्होंने  सूचना (आर.टी.आई.) अधिनियम, 2005 के लिए काम किया ।

उप सचिव (प्रशासन)उर्वरक विभाग,  श्री राकेश कुमार

एक वाणिज्य स्नातक और उर्वरक विभाग में उप सचिव राकेश कुमार 1987 सन में सी एस एस अधिकारी के रूप में भारत सरकार में योगदान दिये । मानव संसाधन प्रबंधन, राज्य सरकारों / संघ राज्य क्षेत्रों / गैर सरकारी संगठनों के  लिये अनुदान सहायता,  संसदीय मुद्दों, प्रशासनिक मुद्दों, सरकारी खरीदी  आदि विषय पर उनके व्यापक अनुभव है । उर्वरक विभाग में नियुक्त होने से  पहले वे सामाजिक न्याय एवं सशक्तिकरण मंत्रालय , आदिवासी मामलों, अनुसूचित जाति / जनजाति के राष्ट्रीय आयोग और  उपभोक्ता मामलों  विभाग में काम किए ।

 

गैर सरकारी निदेशक, प्रोफ. अलक कुमार बुढ़ागोहांई

श्री अलक कुमार बुढ़ागोहांई डिब्रुगढ़ विश्वविद्यालय के कुलपति हैं । इससे पहले, वे तेजपुर केंद्रीय विश्वविद्यालय में पंजीयक और उसी प्रतिष्ठान में अणु- जीवविज्ञान और जीव प्रौद्योगिकी विभाग में प्राध्यापक पद पर थे । वे तेजपुर केंद्रीय विश्वविद्यालय के अणु- जीवविज्ञान और जीव प्रौद्योगिकी विभाग के संस्थापक प्रधान थे । शिलांग के सैईंट एंठोनी कॉलेज से उन्होंने विज्ञान स्नातक उपाधि ली, और, गुवाहाटी विश्वविद्यालय से वनस्पति- विज्ञान में स्नातकोत्तर उपाधि प्राप्त की । लंडन के ईम्पीरियल कॉलेज के  जीवविज्ञान एवं प्रायोगिक जीवविज्ञान विभाग से उन्होंने पी.एच.डी. की उपाधि अर्जन की ।

प्रोफेसर बुढ़ागोहांई पिछले तीन दशक से शिक्षण और अनुसंधान में लगे हुए हैं । उनकी रूचियां हैं – प्राकृतिक उत्पादों से क्षय रोग के दवा की खोज, बैक्तीरियल विकासवादी जीनोमिक्स और नेनोवायो सामग्री।

विभिन्न पत्रिका तथा पुस्तक में उनके कई लेखा प्रकाशित हुए हैं । कुलपति के रूप में डिब्रुगढ़ विश्वविद्यालय में उच्च शिक्षा और अनुसंधान की गुणवत्ता को बढ़ाने पर उनकी सोच केंद्रित है ।

निदेशक मंडल

नाम पदनाम / पता टेलीफोन नंबर

(कार्यालय)

श्री एस. डी. सिंह अध्यक्ष एवं प्रबंध निदेशक 0374-2500240

0374-2507001 (ईपीएबीएक्स)
0,374-2507002 (ईपीएबीएक्स)

श्री आर. के. चन्डोक निदेशक (वित्त)  0120 2414085
श्री एस. एम. गुप्ता उप सचिव (बजट)

उर्वरक विभाग, नई दिल्ली

अंशकालीन सरकारी निदेशक

 011-23387612
श्री राकेश कुमार उप सचिव (प्रशासन)

उर्वरक विभाग, नई दिल्ली

अंशकालीन सरकारी निदेशक

 011-23384889
प्रोफ. अलक कुमार बुढ़ागोहांई गैर सरकारी निदेशक 0373-2370239

फैक्स: 0373-2370323

 

 

प्रबंधन

फोन. .
नाम पदनाम ईपीएबीएक्स बीएसएनएल
कार्यालय. आवास. कार्यालय.. आवास.
सीएमडी कार्यालय
एस डी सिंह अध्यक्ष एवं प्रबंध निदेशक 7003 0374-2500207
 श्रीमती एम दास सीएमडी के सचिव 7003, 7004   7673 Fax :0374 2502777
निदेशक
 

आर के चन्डोक

 

निदेशक(वित्त)

 

0120 2414085

एस एम गुप्ता अंशकालीन निदेशक (सरकारी) 011 23387612 dsbudget-fert@nic.in
राकेश कुमार अंशकालीन निदेशक (सरकारी) 011-23384889 rakesh.kr59@nic.in 
ए के बुढ़ागोहांई गैर सरकारी निदेशक  0373-2370239  alakkrburagohain@gmail.com,alak@dibru.ac.in
 

 

 

निदेशक(उत्पादन) के कार्यालय

निदेशक(उत्पादन) 7001 7501 0374-2500240 0374-2500206
सचिव 7002 7571 Fax 0374-2500317
सीवीओ के कार्यालय
प्रभास कुमार निदेशक (वित्त), उर्वरक विभाग एवं  मुख्य् सतर्कता अधिकारी 0120-2411236,   0120-2412395 FAX: 0120-2411237, 0120-2411725
महा प्रबंधक
वाई के गोयल महा प्रबंधक

(विपणन)

7066 7658  0374-2500533
ए के घोष महा प्रबंधक (इकाई) 7061 7561 0374-2500547
कंपनी सचिव
आर के गुप्ता कंपनी सचिव  7071   7511   0374-2500618
विपणन कार्यालय
ए के सिंह मुख्य विपणन प्रबंधक, नाम्ररूप 7030  7563 Mobile-9435332422
एस के सिंह मुख्य विपणन प्रबंधक, नाम्ररूप 7007 Mobile-9435332423
ए के दत्त मुख्य विपणन प्रबंधक, नाम्ररूप 7355  7518 Mobile: 9435052287
मानव संसाधन विभाग
आर के शर्मा उप महा प्रबंधक (मा.सं.) 7163
कार्मिक
डी हेमब्रम मुख्य कार्मिक अधिकारी 7347  7603
प्रशिक्षण
ए तालुकदार अधीक्षक (प्रशिक्षण) 7035
प्रशासन
पी के भट्टाचार्य मुख्य प्रशासनिक अधिकारी 7164  7589
निदेशक आवास 7557
अतिथि शाला 7587
वित्त
पी सी गुप्ता उप महा प्रबंधक(वित्त) 7335  7516 0374-2500547
पी मजुमदार उप वित्त प्रबंधक 7221
चिकित्सा
डा. आइ के लाहन मुख्य चिकित्सा अधिकारी 7021  7677
डा. अजय बरूवा उप मुख्य चिकित्सा अधिकारी 7023  7564
सतर्कता विभाग
केशव दे वरिष्ठ सतर्कता अधिकारी 7167 7537 Fax  0374-2500664
सामग्री प्रबंधन विभाग
एम मिश्र  (सामग्री प्रबंधन) 7050 7635 Fax0374-2500204
एस के दत्त सामग्री प्रबंधक 7022  7641
यांत्रिक विभाग
पी के वनिक उप महा प्रबंधक (संरक्षण) 7097 7543
ओंकार प्रसाद विभागाध्यक्ष (सिविल) 7283 7617
एम पी सिन्हा मुख्य अभियंता  (यांत्रिक) 7092 7552
के के दिहिदार मुख्य अभियंता  (यांत्रिक) 7130 7599
उत्पादन विभाग
डी सहाय उप महा प्रबंधक (प्रचालन) 7074  7570
ए बंदोपाध्याय मुख्य अभियंता  (केमिकल) 7353 7533
बी सी सरकार अतिरिक्त मुख्य अभियंता  (केमिकल)  7262  7679
विद्युत विभाग
पपुरी एस बी मुख्य अभियंता  (विद्युत)
उपकरण विभाग
डी के दास मुख्य अभियंता  (उपकरण) 7273 7699
सामग्री निर्वाह
ओंकार प्रसाद विभागाध्यक्ष (एम ऐस व सिविल) 7061 7561
तकनीकी सेवाविभाग
एस सरकार उप महा प्रबंधक (तकनीकी सेवा) 7303 7649 0374-2500326
अग्निशमन और सुरक्षा विभाग
आर के दास सह संयंत्र प्रबंधक  (सुरक्षा) 7060 7585
वी दत्त अग्निशमन अधिकारी 7217 7553
केंद्रीय रसायनागार
बी बरदलै मुख्य रसायनबिद 7201 7635
सिविल
ओंकार प्रसाद विभागाध्यक्ष (एम ऐस व सिविल) 7283 7617
एम ईसलाम सह मुख्य अभियंता (सिविल) 7318 7572

 

 

 

 

 

सूचना का अधिकार

सूचना का अधिकार अधिनियम, 2005 प्रत्येक नागरिक को लोक प्राधिकारी  नियंत्रणाधीन  जनहित से संगत सूचना प्राप्त करने का अधिकार प्रदान करता है जिसके द्वारा प्रशासन तथा उससे सम्बन्ध विषयों पर खुलेपन , पारदर्शिता तथा उत्तरदायित्व के  संवर्धन हो सके ।

सूचना का अधिकार अधिनियम 2005 की धारा 5 और 6 के अनुसार, ब्रह्मपुत्र वैली फर्टिलाइजर कॉर्पोरेशन लिमिटेड (बीवीएफसीएल), नामरूप, डाक: पर्बतपुर -786623, जिला: डिब्रूगढ़ (असम) ने अधिनियम के प्रावधानों को लागू करने के लिए पारदर्शिता अधिकारी, प्रथम अपीलीय प्राधिकारी , मुख्य जन सूचना अधिकारी और वैकल्पिक मुख्य जन सूचना अधिकारी के रूप में निम्नलिखित अधिकारियों को नियुक्त किया है ।

कृ सं. नाम, पदनाम और पता मनोनीत
1. श्री वाई के गोयल

महाप्रबंधक (विपणन)

ब्रह्मपुत्र वैली फर्टिलाइजर कॉर्पोरेशन लिमिटेड

(बीवीएफसीएल) नामरूप,
डाक: पर्बतपुर -786623, जिला। डिब्रूगढ़ (असम)
ईमेल: ykgoel@bvfcl.co.in

 

 

पारदर्शिता अधिकारी
2. श्री आर के शर्मा

उप महाप्रबंधक (मानव संसाधन)

ब्रह्मपुत्र वैली फर्टिलाइजर कॉर्पोरेशन लिमिटेड

(बीवीएफसीएल) नामरूप,
डाक: पर्बतपुर -786623, जिला। डिब्रूगढ़ (असम)
ईमेल: rksharma@bvfcl.co.in

प्रथम अपीलीय प्राधिकारी
3  

श्री धृति सुंदर बरुवा
वरिष्ठ विधि अधिकारी

ब्रह्मपुत्र वैली फर्टिलाइजर कॉर्पोरेशन लिमिटेड

(बीवीएफसीएल) नामरूप,
डाक पर्बतपुर -786623, जिला। डिब्रूगढ़ (असम)
ईमेल: legalcell@bvfcl.co.in

मुख्य लोक सूचना अधिकारी
4  

श्री शैलेन बुढ़ागोहांई
सहायक विधि अधिकारी
ब्रह्मपुत्र वैली फर्टिलाइजर कॉर्पोरेशन लिमिटेड

(बीवीएफसीएल) नामरूप,
डाक: पर्बतपुर -786623, जिला। डिब्रूगढ़ (असम)
ईमेल: legalcell@bvfcl.co.in

वैकल्पिक लोक सूचना अधिकारी

इसके अलावा, उक्त अधिनियम की धारा 19 के प्रावधानों के अनुसार, ऐसा कोई  व्यक्ति जिसे अधिनियम में विनिर्दिष्ट  समय के भीतर  बीवीएफसीएल के लोक सूचना अधिकारी / वैकल्पिक जन सूचना अधिकारी से किसी भी विनिश्चय  प्राप्त नहीं हुआ है या मुख्य लोक सूचना अधिकारी / वैकल्पिक जन सूचना अधिकारी के किसी भी विनिश्चय  से व्यथित है,  उस अवधि की समाप्ति से या ऐसे किसी विनिश्चय की प्राप्ति से तीस  दिनों के भीतर ब्रह्मपुत्र वैली फर्टिलाइजर कॉर्पोरेशन लिमिटेड (बीवीएफसीएल) नामरूप, डाक: पर्बतपुर,  786623, जिला: डिब्रूगढ़ (असम) को अपील कर सकता है: ।

सूचना का अधिकार अधिनियम, 2005 के धारा 4 की उपधारा 1, खंड बी के तहत अधिनियम लागू होने से 120 दिन के भीतर निम्नलिखित प्रकाशित करना आवश्यक हैं:

  1. बीवीएफसीएल के संगठन ,कृत्य और कर्तव्य का विवरण :  हमारे आधिकारिक वेब साइट “प्रोफाइल” में यह जानकारी शामिल है।
  2. अधिकारियों और कर्मचारियों की शक्तियां और कर्तव्य :  बीवीएफसीएल में  एक अधिकारी के लिए  अलग अलग स्तर पर कंपनी के शक्तियों को परिभाषित किया गया है। समय-समय पर सौंपे गए अनुसार कर्तव्य निर्धारित होता  हैं। कर्मचारियों मुख्य रूप से संयंत्र संचालन और रखरखाव के लिए काम करते हैं।
  3. विनिश्चय की प्रक्रिया में पालन की जानेवाली प्रक्रिया जिसमें   पर्यवेक्षण और उत्तरदायित्व के माध्यम सन्मिलित हैं : विनिश्चय की  प्रक्रिया विभिन्न अधिकारियों पर प्रत्यायोजित प्राधिकारी पर आधारित है। संगठन चार्ट हमारी वेबसाइट पर उपलब्ध है।
  4. अपने कृत्यों के निर्वहन के लिए बीवीएफसीएल द्वारा निर्धारित मानदंडों : कंपनी के प्रत्येक विभाग अपने कृत्यों के निर्वहन करते समय, विभागीय नियमावली द्वारा निर्देशित है, जिसे समय समय पर समीक्षा और अद्यतन किया जाता है, ।
  5. बीवीएफसीएल द्वारा या अपने नियंत्रणाधीन धारित या अपने कर्मचारियों द्वारा अपने कृत्यों के निर्वहन के लिए प्रयोग किए गए नियम, विनियम, अनुदेश, निर्देशिका और अभिलेख : ज्ञापन और आर्टिकल्स ऑफ एसोसिएशन  कंपनी द्वारा पालन करने के लिए  नियमों और विनियम के समग्र ढांचा  प्रदान करते हैं।
  • कंपनी के प्रत्येक विभाग के अपने कृत्यों के निर्वहन प्रक्रिया  विभागीय नियमावली द्वारा निर्देशित है, जिसे समय समय पर समीक्षा  और अद्यतन किया जाता है । इसके अतिरिक्त, श्रमिकों के लिये स्थायी आदेश(Standing Order)  , तथा अधिकारियों के लिये आचरण, अनुशासन तथा अपील नियमों (CDA Rules) द्वारा कर्मचारियों को विनियमित किया जाता है।
  1. बीवीएफसीएल अथवा इसके नियंत्रण में रखे गये दस्तावेजों की प्रवर्गों के एक बयान : कंपनी के व्यापार के संचालन से संबंधित वाणिज्यिक और तकनीकी दस्तावेजों को   समय-समय पर आवश्यकता के अनुसार तथा विभिन्न संविधि के तहत बीवीएफसीएल  फाइलें, रजिस्टर और / या इलेक्ट्रॉनिक प्रारूप में सम्भालता है।
  2. 7. अपनी नीति की संरचना या उसके कार्यान्वयन के संबंध में जनता के सदस्यों सेपरामर्श के लिए मौजूद व्यवस्था का विवरण : बीवीएफसीएल एक वाणिज्यिक इकाई होने के कारण, अपनी नीतियों आंतरिक प्रबंधन से संबंधित है और, इसलिए, जनता के सदस्यों के साथ विचार-विमर्श के लिए कोई व्यवस्था नहीं है। कंपनी के निदेशक मंडली विधियों में  लागू प्रावधानों, नियमों आदि का पालन करते हुए अपनी सभी नीतियां तैयार करते हैं।
  3. 8. ऐसे बोर्डों, परिषदों, समितियों और अन्य निकायों के, जिसमें दो या अधिक व्यक्ति हैं, जिनका उनके भागरूप में या इस बारे में सलाह देने के प्रयोजन के लिए गठन किया गया है   और क्या उन बोर्ड, परिषदों, समितियों और अन्य निकायों की बैठकों जनता के लिए खुली होगी  या ऐसी  बैठकों के कार्यवृत्त तक जनता की पहुंच होगी, विवरण :

कंपनी के निदेशक मंडली इस प्रकार हैं:

क्रम सं नाम पदनाम
1 श्री एस. डी. सिंह अध्यक्ष एवं प्रबंध निदेशक
2

3

श्री आर. के. चन्डोक

श्री राकेश कुमार

निदेशक(वित्त)

उप सचिव (प्रशासन), उर्वरक विभाग

4 श्री एस. एम. गुप्ता उप सचिव (बजट), उर्वरक विभाग
5 प्रो. ए.के. बुढ़ागोहांई  गैर सरकारी निदेशक

कंपनी अधिनियम, 1956 की धारा 292 (A) के प्रावधानों के तहत कंपनी के निदेशक मंडली ने  निम्नलिखित सदस्यों से एक लेखा परीक्षा समिति का गठन किया है:

क्र.सं. नाम पदनाम
1 प्रो ए. के. बुढ़ागोहांई गैर सरकारी निदेशक अध्यक्ष
2 श्री एस. डी. सिंह अध्यक्ष एवं प्रबंध निदेशक सदस्य
3 श्री एस. एम. गुप्ता सरकारी  निदेशक सदस्य
4 श्री राकेश कुमार सरकारी  निदेशक सदस्य

कंपनी अधिनियम, 1956 के प्रावधानों के अनुसार निदेशक मंडल द्वारा समय-समय पर लेखा परीक्षा समिति को शक्ति तथा कृत्य सौंपा जाता हैं।

कंपनी के निदेशक मंडल डीपीई दिशानिर्देशों के अनुपालन में एक पारिश्रमिक समिति का गठन किया है। पारिश्रमिक समिति में निम्नलिखित सदस्य शामिल हैं:

क्र.सं. नाम पदनाम
1 प्रो ए के बुढ़ागोहांई गैर सरकारी निदेशक अध्यक्ष
2 श्री एस. डी. सिंह अध्यक्ष एवं प्रबंध निदेशक सदस्य
3 श्री राकेश कुमार सरकारी  निदेशक सदस्य
 4  श्री एस. एम. गुप्ता  सरकारी  निदेशक  सदस्य

पारिश्रमिक समिति के विचारार्थ विषय समय-समय पर भारी उद्योग एवं सार्वजनिक उद्यम मंत्रालय द्वारा जारी किए गए डीपीई दिशानिर्देशों के अनुपालन में होगा।

कंपनी अधिनियम, 2013 की धारा 135 के प्रावधानों के तहत कंपनी के निदेशक मंडल ने एक कॉर्पोरेट  सामाजिक उत्तरदायित्व समिति का गठन किया है | कॉर्पोरेट सामाजिक उत्तरदायित्व समिति में निम्नलिखित सदस्यों शामिल हैं:

क्र.सं. नाम पदनाम
1 प्रो ए. के. बुढ़ागोहांई गैर सरकारी निदेशक अध्यक्ष
2 श्री एस. डी. सिंह अध्यक्ष एवं प्रबंध निदेशक सदस्य
3 श्री आर. के. चन्डोक निदेशक(वित्त) सदस्य
 4  श्री राकेश कुमार सरकारी  निदेशक  सदस्य

 

कंपनी के प्रबंधन आंतरिक रूप से आवश्यकता के आधार पर विभिन्न तदर्थ समितियों का गठन किया है।

निदेशक मंडल की बैठक, लेखा परीक्षा समितियो और पारिश्रमिक समिति के  बैठक जनता के लिए खुली नहीं है और न ही इसकी कार्यसूची / कार्यवृत्त जनता के लिए सुलभ हैं। हालांकि, कंपनी और उसके प्रबंधन के बारे में महत्वपूर्ण जानकारी / निर्णय राज्य और केन्द्र सरकार के विभिन्न सांविधिक अधिकारियों को सूचित किया जाता है।
9. अधिकारियों एवं बीवीएफसीएल के कर्मचारियों की एक निर्देशिका :

कंपनी के वरिष्ठ स्तर के अधिकारियों निर्देशिका इस वेब साइट में लिंक ‘प्रबंधन’ में उपलब्ध है

10  कंपनी नियम के अनुसार में दिए गये प्रतिकर की प्रणाली सहित प्रत्येक स्तर पर अधिकारियों और कर्मचारियों द्वारा प्राप्त मासिक पारिश्रमिक

कर्मचारियों के वेतनमान नीचे दिए गए हैं: –
अधिकारी के वेतनमान:

ग्रेड पदनाम वेतनमान रुपये
अध्यक्ष एवं प्रबंध निदेशक 25750-650-30950
E9 निदेशक (वित्त) 22500-650-27300
E9 निदेशक (उत्पादन) 22500-650-27300
E8 महाप्रबंधक / कार्यपालक  निदेशक 20500-500-26500
E7 उप महाप्रबंधक 18500-450-23900
E6 मुख्य अभियंता और समकक्ष 17500-400-22300
E5 अतिरिक्त मुख्य अभियंताओं व समकक्ष 16000-400-20800
E4 उप मुख्य अभियंता व समकक्ष 14500-350-18700
E3 संयंत्र अभियंता / संयंत्र प्रबंधक व समकक्ष 13000-350-18250
E2 सहायक संयंत्र अभियंता / सहायक संयंत्र प्रबंधक व समकक्ष 10750-300-16750
E1 सहायक अभियंता और समकक्ष 8600-250-14600
 E0   सहायक फोरमैन व समकक्ष  6500-200-11350

श्रमिकों के वेतनमान:

ग्रेड पदनाम वेतनमान रुपये
वरिष्ठ ऑपरेटर / सीनियर तकनीशियन व समकक्ष 6100-190-9710
ऑपरेटर / तकनीशियन ग्रेड -I और समकक्ष 5550-160-8910
ऑपरेटर / तकनीशियन ग्रेड -II एवं समकक्ष 5150-150-8000
ऑपरेटर / तकनीशियन ग्रेड -III और समकक्ष 4650-100-6550
मजदूर 4550-80-5670
4300-70-5280
मैसेंजर 4650-100-6000
4550-80-5670
4300-70-5280

नोट: -। मूल वेतन के अलावा, अन्य जैसे, महंगाई भत्ता, मकान किराया भत्ता, शहर प्रतिपूर्ति भत्ता, चिकित्सा प्रतिपूर्ति, फ्रिंज बेनिफिट (जहां  अवकाश यात्रा रियायत, स्थानीय यात्रा के खर्च की प्रतिपूर्ति, किट रखरखाव का खर्च और भोजन भत्ता भी शामिल है), पूर्वोत्तर भत्ता, नामरूप भत्ता, अर्जित अवकाश नकदीकरण (एक साल में 30 दिन), भविष्य निधि, ग्रेच्युटी, आदि समय-समय पर कंपनी के नियमों के अनुसार उपलब्ध कराए गए हैं।

  1. सभी योजनाओं, प्रस्तावित व्यय और किए गए संवितरणों पर रिपर्टों की विशिष्टियांउपदर्शित करते हुए प्रत्येक अभिकरण को आवंटित बजट :  बीवीएफसीएल पूंजी और राजस्व व्यय के लिए आंतरिक बजट तैयार करता है और किसी भी अभिकरण  को आवंटन के लिए कोई प्रावधान नहीं रखा है।
  2. सहायिकी कार्यक्रमों के निष्पादन की रीति जिसमें आबंटित राशि और ऐसे कार्यक्रमों के फायदाग्राहियों के ब्योरे सन्मिलित है : लागू नहीं।
  3. अपने द्वारा अनुदत्त रियायतों, अनुज्ञा पत्रों , या प्राधिकारों के प्राप्तकर्ताओं की विशिष्टियां:       लागू नहीं।
  4. किसी इलैक्ट्रॉनिक रूप में सूचना के संबंध में ब्योरे जो उसको उपलब्ध हो या उसके द्वारा धारित हो : कंपनी प्रोफाइल / निविदा / कल्याण / पर्यावरण / संयंत्र / प्रबंधन / उत्पाद / विपणन से संबंधित जानकारी हमारे आधिकारिक वेब साइट पर उपलब्ध हैं: http://www.bvfcl.com
  5. सूचना अभिप्राप्त करने के लिए नागरिकों को उपलब्ध सुविधाएं की विशिष्टियां, जिनमें किसी पुस्तकालय या वाचन कक्ष के, यदि लोक उपयोग के लिए अनुरक्षित है तो, कार्यकरण घंटे सन्मिलित हैं : कंपनी के लोक उपयोग के लिए पुस्तकालय नहीं है।
    सूचना प्राप्त करने के लिए सूचना का अधिकार अधिनियम, 2005 के क्रम सं 18 का संदर्भ लें।
  6. लोक सूचना अधिकारियों के नाम, पदनाम और अन्य विशिष्टियां : सूचना का अधिकार अधिनियम, 2005 धारा (5) के संदर्भ में,  नागरिकों के अनुरोध पर (संदर्भ क्रम सं 18 ) जानकारी देने के लिए बीवीएफसीएल, नामरूप के लिए (1) श्री धृति सुंदर बरुवा, वरिष्ठ विधि अधिकारी और श्री आर के शर्मा, उप महा प्रबंधक को क्र्मश: मुख्य लोक सूचना अधिकारी (सीपीआईओ) और प्रथम अपीलीय प्राधिकारी नामित किया गया है।
मुख्य लोक सूचना अधिकारी

श्री धृति सुंदर बरुवा
वरिष्ठ विधि अधिकारी

ब्रह्मपुत्र वैली फर्टिलाइजर कार्पोरेशन लिमिटेड
नामरूप, डाक : पर्बतपुर – 786623
जिला। : डिब्रूगढ़ (असम)

  1. ऐसी अन्य सूचना , जो विहित एवं प्रकाशित किया जाए और तत्पश्चात इन प्रकाशनों को प्रत्येक वर्ष अद्यतन किया जाए : मानव संसाधन, विपणन, संयंत्र और निविदाओं के बारे में जानकारी हमारी वेबसाइट पर उपलब्ध हैं।

आवेदन करने की  प्रक्रिया:

  1. जो जानकारी प्राप्त कर सकते हैं : भारत के कोई  ब्यक्ति जो सूचना का अधिकार अधिनियम, 2005  के अधीन  कोई  सूचना अभिप्राप्त करना चाहता है,  वह अधिमानतः आवेदन प्रारूप में लिखित रूप में या इलेक्ट्रॉनिक साधनों के माध्यम से, कंपनी के सूचना अधिकारी को अनुरोध कर सकता है ।
  2. आवेदन शुल्क:  सूचना प्राप्त करने के लिए आवेदन निम्नोक्त शुल्क के साथ “ब्रह्मपुत्र वैली फर्टिलाइजर निगम लिमिटेड, नामरूप ”  को दाखिल किया जा सकता  है ।  अगर नकदी भुगतान किया जाता है, रसीद की एक प्रति संलग्न की जानी है ।

आवेदन शुल्क:: वर्तमान में आवेदन शुल्क, जो समय-समय पर परिवर्तन हो सकता है, इस प्रकार है : रु 10 / – (रूपये दस केवल) ।

भुगतान की विधि: नकद – सुबह 9.00 बजे से दोपहर 1.00 बजे तक और दोपहर 1.00 बजे से शाम   4.00 बजे तक रोकड़ अनुभाग में जमा करना होगा । डीडी / बैंकर  चैक एसबीआई , नामरूप में देय होना होगा ।

रोकड़ अनुभाग का ठिकाना :

रोकड़ अनुभाग, प्रशासनिक बिल्डिंग
ब्रह्मपुत्र वैली फर्टिलाइजर कार्पोरेशन लिमिटेड
नामरूप, डाक : – पर्बतपुर  (786623)   जिला। : डिब्रूगढ़ (असम)

“गरीबी रेखा से नीचे” श्रेणी के  व्यक्ति को किसी भी शुल्क भुगतान करने की आवश्यकता नहीं है । पर उसे अपने दावे के समर्थन में आवश्यक दस्तावेज पेश करना होगा ।

अतिरिक्त शुल्क: अगर सूचना उपलब्ध कराने का फैसला किया है, अनुरोधकर्ता को  अतिरिक्त शुल्क के बारे में संसूचित किया जाएगा, यदि कोई हो ।  अधिनियम के अनुसार अतिरिक्त शुल्क के जमा करने के बाद ही निवेदक के लिए जानकारी प्रस्तुत किया जाएगा ।

वर्तमान में, अतिरिक्त फीस के लागू दरों, जो समय परिवर्तन के अधीन हैं, नीचे दिए गए हैं:

क. प्रत्येक. पृष्ठ के लिए (ए -4 या ए -3

आकार के कागज) बनाया या नकल

रुपये  2 /-   प्रति पृष्ठ
ख.   बड़े आकार के कागज में एक प्रति

के लिए

वास्तविक शुल्क या लागत मूल्य
ग.       नमूनों या मॉड्लों  के लिए वास्तविक लागत या कीमत
घ.       अभिलेखों के निरीक्षण के लिए  

पहले घंटे के लिए कोई शुल्क नहीं, और तत्पश्चात

प्रत्येक पंद्रह मिनट (या उसके भाग) के लिए पांच रुपये का एक फीस

इसके अलावा, सूचना का अधिकार अधिनियम, 2005 की धारा 7 की उपधारा 5 के तहत सूचना उपलब्ध कराने के लिए फीस निम्नलिखित दरों पर शुल्क लिया जाएगा:

डिस्क या फ्लॉपी में उपलब्ध कराई गई जानकारी के लिए   रुपये 50 / – (रूपये पचास केवल) डिस्क या फ्लॉपी प्रति
मुद्रित रूप में उपलब्ध कराई गई जानकारी के लिए   ऐसे प्रकाशन के लिए विनिर्दिष्ट मूल्य या प्रकाशन के

अंश  के एक पृष्ठ फोटोकॉपी के लिए दो रुपये

ऊपर उल्लेख अतिरिक्त शुल्क के भुगतान का तरीका लागू शुल्क के भुगतान जैसा ही होगा।

लोक सूचना अधिकारी / वैकल्पिक जन सूचना अधिकारी मांगी सूचना प्रदान करेंगे  या आवेदन प्राप्त होने के 30 दिनों के भीतर आवेदन को अस्वीकार कर  देंगे।

आवेदन की जानकारी की मांग निम्न स्थितियों में से किसी में भी अस्वीकार कर दिया जा सकता है:

  1. निर्धारित शुल्क साथ में नहीं
  2. सूचना जो अधिनियम के तहत प्रकटन के लिये प्रतिषिद्ध है।

अपील:

अगर  अनुरोधकर्ता जिसे अधिनियम की धारा (7) की उप-धारा (1) या उपधारा (3 ) की खंड (क) में  विनिर्दिष्ट समय के भीतर कोई विनिश्चय प्राप्त नहीं हुआ है  या लोक सूचना अधिकारी / वैकल्पिक अधिकारी के किसी विनिश्चय से व्यथित है, यथास्थिति,  वह उस अवधि की समाप्ति से या ऐसे किसी  विनिश्चय की प्राप्ति के  तीस दिनों के भीतर, प्रथम अपीलीय प्राधिकारी को शिकायत निवारण के लिए अपील कर सकता हैं (धारा 19) ।

सेवा में

श्री आर के शर्मा
उप महा प्रबंधक (मा. सं)
ब्रह्मपुत्र वैली फर्टिलाइजर कॉर्पोरेशन लिमिटेड,
नामरूप, , डाक : पर्बतपुर (786623) ,  जिला। : डिब्रूगढ़ (असम)
ई-मेल:  rksharma@bvfcl.co.in

सूचना के प्रकट किए जाने से छूट :

निम्नलिखित प्रकटीकरण से छूट दी गई है (धारा 8)

धारा 8

उपधारा 1. इस अधिनियम में अंतर्विष्ट किसी भी बत के होते हुए भी, किसी नागरिक को

निम्नलिखित सूचना देने की बाध्यता नहीं होगी –

(क) सूचना , जिसके प्रकटन से भारत की प्रभुता और अखंडता, राज्य की सुरक्षा, रणनीति, वैज्ञानिक या आर्थिक हित, विदेश से संबंध पर प्रतिकूल प्रभाव पड़ता है या किसी अपराध को करने का उद्दीपन होता हो ;

(ख) सूचना, जिसके प्रकाशन को किसी न्यायालय या अधिकरण द्वारा अभिव्यक्त रूप से निषिद्ध किया गया है या जिसके प्रकटन से न्यायालय का अवमान होता है ;

(ग) सूचना, जिसके प्रकटन से संसद या किसी राज्य के विधान-मंडल के विशेषाधिकार का भंग कारित होगा ;

(घ) सूचना जिसमें  वाणिज्यिक विश्वास, व्यापार गोपनीयता या बौद्धिक संपदा सम्मिलित  है, जिसके प्रकटन से किसी पर व्यक्ति की  प्रतियोगी स्थिति को नुकसान होता है, जब तक कि सक्षम अधिकारी का यह समाधान नहीं हो जाता है कि ऐसी सूचना के प्रकटन से विस्तृत लोक हित का समर्थन होता है ;

(ङ) किसी व्यक्ति को उसकी वैश्चासिक नातेदारी में उपलब्ध सूचना, जब तक कि सक्षम प्राधिकारी का यह समाधान नहीं हो जाता है कि ऐसी सूचना के प्रकटन से विस्तृत लोक हित का समर्थन होता है ;

(च) किसी विदेशी सरकार से विश्वास में प्राप्त सूचना ;

(छ) सूचना, जिसको प्रकट करना  किसी व्यक्ति के जीवन या शारीरिक सुरक्षा को खतरे में डालेगा या जो विधि प्रवर्तन या सुरक्षा प्रयोजनों के लिए विश्वास में दी गई किसी सूचना या सहायता के स्रोत की पहचान करेगा ;

(ज) सूचना, जिससे अपराधियों के अन्वेषण पकड़ जाने या अभियोजन की प्रक्रिया में अड़चन पड़ेगी ;

(झ) मंत्रिमंडल के कागजपत्र, जिसमें मंत्रिपरिषद्, सचिवों और अन्य अधिकारियों के विचार-विमर्श के अभिलेख सम्मिलित हैं:

परंतु यह कि मंत्रिपरिषद् के विनिश्चय , उनके कारण तथा वह सामग्री, जिसके आधार पर विनिश्चय किए गए थे,  विनिश्चय किए जाने और विषय के पूरा या समाप्त होने के पश्चात जनता को उपलब्ध कराए जाएंगे :

परंतु यह और कि वे विषय, जो इस धारा में विनिर्दिष्ट छूटों के अंतर्गत आते हैं प्रकट नहीं किए जाएंगे :

(ञ) सूचना, जो व्यक्तिगत सूचना से संबंधित है, जिसका प्रकटन किसी लोक क्रियाकलाप या हित से संबंध नहीं रखता है या जिससे व्यक्ति की एकांतत पर अनावश्यक अतिक्रमण होगा, जब तक कि, यथास्थिति , केंद्रीय लोक सूचना अधिकारी या राज्य सूचना अधिकारी या अपील अधिकारी का यह समाधान नहीं हो जाता है कि ऐसी सूचना का प्रकटन विस्तृत लोक हित में न्यायोचित है :

 

परंतु ऐसी सूचना के लिए जिसको, यथास्थिति, संसद या किसी राज्य विधान-मंडल को देने से इनकार नहीं किया जा सकता है, किसी व्यक्ति को इनकार नहीं किया जा सकेगा ।

 

धारा 9. कतिपय मामलों में पहुंच के लिए अस्वीकृति के आधार – धारा 8 के उपबंध पर

प्रतिकूल प्रभाव डाले बिना, यथास्थिति, कोई लोक सूचना अधिकारी सूचना के किसी

अनुरोध को वहां अस्वीकार कर सकेगा, जहां पहुंच उपलब्ध कराने के लिए ऐसा

अनुरोध राज्य से भिन्न किसी व्यक्ति के अस्तित्वयुक्त प्रतिलिप्यधिकार का उल्लंघन

अंतर्वलित करेगा ।

धारा 10. जहां सूचना तक पहुंच के अनुरोध को इस आधार पर अस्वीकार किया जाता है कि         वह ऐसी सूचना के संबंध में है, जो प्रकट किए जाने से छुट प्राप्त है, वहां इस अधिनियम     में किसी बात के होते हुए भी, पहुंच अभिलेख के उस भाग तक उपलब्ध कराई जा     सकेगी जिसमें कोई ऐसी सूचना अंतर्विष्ट नहीं है, जो इस अधिनियम के अधीन प्रकट किए जाने से छुट प्राप्त है और जो किसी भाग से, जिसमें छुट प्राप्त सूचना अंतर्विष्ट है,    युक्तियुक्त रूप से पृथक की जा सकती है ।

 

एक अनुरोध को खारिज करने के लिए प्रक्रिया

 

केन्द्रीय लोक सूचना अधिकारी [धारा 7 (8)] के तहत जहां किसी अनुरोध को अस्वीकृत किया गया है,  लोक सूचना अधिकारी अनुरोध करने वाले व्यक्ति को –

क) ऐसी अस्वीकृति कए किए कारण ;

ख) वह अवधि, जिसके भीतर ऐसी अस्वीकृति के विरुद्ध कोई अपील की जा               सकेगी; और

ग) अपील अधिकारी की विशिष्टियां,

संसूचित करेगा ।

 

किसी सूचना को साधारणतया उसी प्रारूप में उपलब्ध कराया जाएगा, जिसमें उसे मांगा गया है, जब तक कि वह लोक प्राधिकारी के संसाधन  को अनुपातहीन रूप से विचलित न करता हो या संबंधित अभिलेख की सुरक्षा या संरक्षण के प्रतिकूल न हो [धारा 7 (9)]।

 

 

 

 

 

 

 

नागरिक चार्टर

प्रस्तावना

इस चार्टर हमारे मिशन, उद्देश्य, मूल्य, प्रतिबद्धता, मानक और दूसरों से हमारी अपेक्षा की घोषणा है।

मिशन

  • उर्वरक का दक्षतापूर्वक , किफायती और पर्यावरण अनुकूल ढंग  से उत्पादन करना ।
  • स्वयं को लाभ अर्जित करने वाले  उद्यम के रूप में स्थापित करना ।
  • देश की रणनीतिक रूप से महत्वपूर्ण उत्तर पूर्वी भागों के सर्वांगीण समुन्नति  के लिए कार्य करना।
  • अन्य औद्योगिक उत्पादों के उत्पादन में विविधीकरन करना ।
  • क्षेत्र में संतुलित आर्थिक विकास करना ।

उद्देश्य

बीवीएफसीएल के निम्नलिखित उद्देश्य हैं:

  • ऊर्जा बचत के लिए योजनाएं बनाना और उन्हें  लागू करना ।
  • संयंत्र प्रचालन  सुरक्षा में लगातार सुधार करना ।
  • क्षमता उपयोग के उच्च स्तर प्राप्त करना ।
  • कंपनी के मानव संसाधन की गुणवत्ता को  लगातार उन्नत बनाना  तथा संगठनात्मक विकास को बढ़ावा देना।

मूल्य

हम अपने कार्यों और कर्तव्य को अत्यधिक :

  • निष्ठा
  • गति
  • समता
  • अखंडता
  • पारदर्शिता
  • और बिना किसी भय या पक्षपात

से करेंगे  ।

मानक

  • हमने आप के साथ सभी लेनदेन के लिए अपने मानक स्थापित किए हैं । हम यह वचन देते हैं कि किसी संभावित या अवश्यंभावी विलम्ब के मामले में, हम इसकी सूचना तत्काल संबंधित पार्टी को देंगे ।

हमारी प्रतिबद्धता

हम निम्नलिखित के लिए प्रतिबद्ध हैं :

  • विनिर्दिष्ट के अनुरूप गुणवत्ता उर्वरक का उत्पादन और वितरण ।
  • उपभोक्ता की संतुष्टि सुनिश्चित करने के लिए अपने  उर्वरकों का समय पर वितरण ।
  • प्रौद्योगिकी और मानव संसाधन का विकास के सतत उन्नयन ।
  • निर्धारित सुरक्षा, स्वास्थ्य और पर्यावरण संरक्षण के मानकों का कड़ी अनुपालन ।

ग्राहकों / नागरिकों को प्रदान की गई सेवाएं

उत्पादकता में सुधार लाने के लिए उर्वरकों के संतुलित उपयोग हेतु  गांव / ब्लॉक स्तर पर  कंपनी द्वारा किसानों को नि:शुल्क प्रशिक्षण दिया जाता है।

शिकायत निवारण प्रणाली

  1. कर्मचारी शिकायत निवारण समिति

कर्मचारियों की शिकायत की त्वरित निपटान के लिए बीवीएफसीएल ने एक शिकायत निवारण समिति का गठन किया है। समिति के सदस्यों के नाम और पदनाम  नीचे दिये गये है :

 

नाम पदनाम
श्री वाई के गोयल, मह प्रबंधक (विपणन) अध्यक्ष
संबंधित मुख्य अभियंता / विभागाध्यक्ष सदस्य
श्री पी के भट्टाचार्य, मुख्य प्रशा. अधिकारी  सदस्य
सुश्री ए छेत्री, वरिष्ठ कार्मिक अधिकारी सदस्य सचिव
FWUN से प्रतिनिधि सदस्य*
NFSU से प्रतिनिधि सदस्य*
 JCO  से प्रतिनिधि सदस्य*

 

* श्रमिक की शिकायत के मामले में मान्यता प्राप्त ट्रेड यूनियन के प्रत्येक से एक नामिती या अधिकारियों की शिकायतों के मामले में अधिकारियों की संयुक्त परिषद (जे.सी.ओ) से एक नामिती ।

उपरोक्त समिति एक महीने में कम से कम एक बार बैठक करेगा  और अध्यक्ष एवं प्रबंध निदेशक ,बीवीएफसीएल,  को अपने निष्कर्षों सूचित करेगा।

  1. नगरी  कल्याण समिति

बीवीएफसीएल  ने   कंपनी की नगरी  की साफ-सफाई से संबंधित सभी मामलों देखभाल करने के लिए एक समिति का गठन किया है। समिति के सदस्यों के नाम और पदनाम  नीचे दिये गये  है:

नाम व पदनाम
अध्यक्ष
विभागाध्यक्ष (वित्त) या उनके प्रतिनिधि सदस्य
विभागाध्यक्ष (विद्युत) या उनके प्रतिनिधि सदस्य
सहायक मुख्य अभियंता (सिविल) या उनके प्रतिनिधि सदस्य
विभागाध्यक्ष (प्रशासन) या उनके प्रतिनिधि सदस्य
विभागाध्यक्ष (कार्मिक) या उनके प्रतिनिधि  सदस्य
प्रधान सचिव, FWUN सदस्य
प्रधान सचिव, NFSU सदस्य
प्रधान सचिव, JCO सदस्य
प्रधान सचिव, BVFC क्लब सदस्य
प्रधान सचिव, नामरूप उर्वरक क्लब सदस्य
प्रधान सचिव, केंद्रीय स्पोर्ट्स एसोसिएशन सदस्य
कार्मिक अधिकारी (कल्याण) सचिव एवं संयोजक

उपरोक्त समिति एक महीने में कम से कम एक बार बैठक करेगा  और अध्यक्ष एवं प्रबंध निदेशक ,बीवीएफसीएल,  को अपने निष्कर्षों सूचित करेगा।

उपरोक्त समितियों के संबंध में शिकायतों प्रशासनिक भवन के स्वागत  काउंटर पर रखा गया शिकायत बॉक्स में दर्ज की जा सकती है। संबंधित समन्वय अधिकारी आगे की आवश्यक कार्रवाई के लिए नियमित अंतराल पर शिकायत बॉक्स खोलेगा। शिकायतों को डाक से /  समिति के अध्यक्ष के कार्यालय में भी  दर्ज किया जा सकता है  । अध्यक्ष और समन्वयक अधिकारी का नाम, पदनाम, कमरा नंबर, टेलीफोन नंबर आदि प्रशासनिक भवन के प्रवेश द्वार पर प्रदर्शित होता है।

प्रत्येक शिकायत याचिका स्वीकार किया जाएगा और यदि कोई कार्रवाई समर्थित नहीं होता  है तो इसका उचित  जबाब समय में याचिकाकर्ता को भेजी जाएगी।

  1. सूचना का अधिकार अधिनियम, 2005

सूचना का अधिकार अधिनियम, 2005 प्रत्येक नागरिक को लोक प्राधिकारी  नियंत्रणाधीन जनहित से संगत सूचना प्राप्त करने का अधिकार प्रदान करता है जिसके द्वारा प्रशासन तथा उससे सम्बन्ध विषयों पर खुलेपन , पारदर्शिता तथा उत्तरदायित्व के  संवर्धन हो सके ।

सूचना का अधिकार अधिनियम 2005 की धारा 5 के अनुसार, ब्रह्मपुत्र वैली फर्टिलाइजर कॉर्पोरेशन लिमिटेड (बीवीएफसीएल), नामरूप, डाक: पर्बतपुर -786623, जिला: डिब्रूगढ़ (असम) ने अधिनियम के प्रावधानों को लागू करने के लिए मुख्य लोक सूचना अधिकारी और वैकल्पिक लोक सूचना अधिकारी के रूप में निम्नलिखित अधिकारियों को नियुक्त किया है ।

कृ सं. नाम, पदनाम और पता मनोनीत
1.  श्री धृति सुंदर बरुवा
वरिष्ठ विधि अधिकारीब्रह्मपुत्र वैली फर्टिलाइजर कॉर्पोरेशन लिमिटेड(बीवीएफसीएल) नामरूप,
डाक : पर्बतपुर -786623, जिला। डिब्रूगढ़ (असम)
ईमेल: legalcell@bvfcl.co.in
मुख्य लोक सूचना अधिकारी
2.  

श्री शैलेन बुढ़ागोहांई
सहायक विधि अधिकारी
ब्रह्मपुत्र वैली फर्टिलाइजर कॉर्पोरेशन लिमिटेड

(बीवीएफसीएल) नामरूप,
डाक : पर्बतपुर -786623, जिला। डिब्रूगढ़ (असम)
ईमेल: legalcell@bvfcl.co.in

वैकल्पिक लोक सूचना अधिकारी

इसके अलावा, उक्त अधिनियम की धारा 19 के अनुसार, किसी भी व्यक्ति जो अधिनियम में विनिर्दिष्ट  समय पर बीवीएफसीएल के लोक सूचना अधिकारी / वैकल्पिक लोक सूचना अधिकारी से किसी विनिर्णय न मिलने पर या मुख्य लोक सूचना अधिकारी / वैकल्पिक लोक सूचना अधिकारी के किसी विनिर्णय से व्यथित होने पर इस तरह के अवधि की समाप्ति से या इस तरह के एक विनिर्णय की प्राप्ति से तीस  दिनों के भीतर ब्रह्मपुत्र वैली फर्टिलाइजर कॉर्पोरेशन लिमिटेड (बीवीएफसीएल) नामरूप, डाक: पर्बतपुर,  786623, जिला: डिब्रूगढ़ (असम) को अपील कर सकता है ।

आगे विस्तृत जानकारी प्राप्त करने के लिए, कृपया हमारी आधिकारिक वेब साइट कानून www.bvfcl.com/   सूचना के अधिकार देखें ।

  1. ग्राहक शिकायतों निवारण प्रकोष्ठ: बीवीएफसीएल कंपनी के ग्राहकों की शिकायतों के समाधान के लिए एक शिकायत निवारण प्रकोष्ठ की स्थापना की है ।  कंपनी के उत्पादों आदि से सम्बंधित  शिकायत के लिए  ग्राहक को प्रकोष्ठ के नोडल अधिकारी से संपर्क करने का अनुरोध किया जाता है –  श्री वाई.के. गोयल, महाप्रबंधक (विपणन), बीवीएफसीएल, नामरूप। टेलीफोन: 0374-2500533 / 2507007 ग्राहक info@bvfcl.co.in    में  ई-मेल भेज कर अपनी शिकायत दर्ज करा सकते हैं ।
  2. रिश्वत या वित्तीय अनियमितताओं के लिए निवारण से जुड़े शिकायतों के संबंध में जनता मुख्य सतर्कता अधिकारी, बीवीएफसीएल, संपर्क कार्यालय, A-11, एनएफएल हाउस, सेक्टर -24, नोएडा-201301 (उत्तर प्रदेश) से संपर्क कर सकते है ।

शिकायतों के निपटान करने की समय सीमा

  1. याचिका कर्ता को पावती / अंतरिम उत्तर देना :  2 सप्ताह ।
  2. संबंधित अधिकारी को  शिकायत याचिका भेजना : 3 सप्ताह ।
  3. शिकायत याचिका का  अंतिम निपटान     : 2 महीने ।

ग्राहकों / नागरिकों से अपेक्षा

हम ग्राहकों / नागरिकों से यह अपेक्षा करते हैं कि वे किसी प्रकार का प्रलोभन बिना और तुच्छ मुद्दों को उठाए बिना कंपनी के साथ अपने सभी लेनदेन में अपने अधिकारों और बाध्यता का प्रयोग करने में युक्तियुक्त और तुरत होंगे

(क) ग्राहक द्वारा खरीदी गए उत्पाद , इसकी गुणवत्ता, वजन आदि के बारे में सूचना समय पर देना ।

(ख) आगे सुधार करने के लिए सुझाव ।

 

 

 

निदेशकों और वरिष्ठ प्रबंधन के लिए आचार संहिता

ब्रह्मपुत्र वैली फर्टिलाइजर कॉरपोरेशन लिमिटेड

 

निदेशक बोर्ड के सदस्यों और वरिष्ठ प्रबंधन के लिए आचार संहिता सार्वजनिक उद्यम विभाग द्वारा जारी किये गए सेंट्रल पब्लिक सेक्टर एंटरप्राइजेज के  कॉरपोरेट गवर्नेंस पर दिशा निर्देश, 2007,  के आधार पर बनाया गया है।

ब्रह्मपुत्र वैली फर्टिलाइजर कॉरपोरेशन लिमिटेड (बाद में “कंपनी” या “बीवीएफसीएल” के रूप में उल्लेखित ) व्यापार और नैतिक आचरण के उच्चतम मानकों को बनाए रखने के लिए प्रतिबद्ध है। इस कोड उस व्यवहार के सिद्धांतों को दर्शाता है जो इस प्रतिबद्धता का समर्थन करता  है। निदेशक मंडल कोड में निहित आचरण के मानक स्थापित करने के लिए और कानूनी और नियामक आवश्यकताओं के अनुसार उचित रूप में इन मानकों को अद्यतन करने के लिए जिम्मेदार है। प्रत्येक निदेशक को इस कोड को  पढ़ना  और अपनी जिम्मेदारियों का पालन करने हेतु  इसे समझना पड़ता  है। सेबि (SEBI) / कंपनी अधिनियम / डीपीई दिशा निर्देशों की आवश्यकता के अनुसार, प्रत्येक निदेशक इस संहिता के पालन के लिए उत्तरदायी  है।

  1. परिभाषाएं :
  2. i) बोर्ड या निदेशक मंडल या निदेशक का अर्थ – इसमें कार्यकारी या गैर कार्यकारी , या , स्वतंत्र या गैर स्वतंत्र सभी निर्देशकों और संहिता के प्रयोज्यता के उद्देश्य से, , वरिष्ठ प्रबंधन कार्मिकों  शामिल हैं ।
  3. ii) “पूर्णकालिक निदेशक” या “कार्यात्मक निदेशक” का अर्थ कंपनी के निदेशक, जो कंपनी के पूर्णकालिक नियोजन में हैं ।

iii) “अंशकालिक निदेशकों” का अर्थ कंपनी के निदेशक, जो कंपनी के पूर्णकालिक  नियोजन में नहीं हैं ।

  1. iv) “वरिष्ठ प्रबंधन” का अर्थ है निदेशक मंडल को छोड़कर जो कंपनी के मूल प्रबंधन टीम के सदस्य हैं और पूर्णकालिक निदेशकों से एक स्तर नीचे कंपनी द्वारा निर्णित सभी कार्यात्मक शीर्ष अधिकारीओं सहित सभी सदस्यों ।
  2. v) “संबंधी” का अर्थ कंपनी अधिनियम, 1956 की धारा 6 में परिभाषित अनुसार ही होगा।

 नोट: इस कोड में शब्दों के लिंगभेद या वचन भेद नहीं है ।

 

 

  1.   प्रयोज्यता :

2.0   इस कोड को निम्न कार्मिकों पर लागू होगी:

क) कंपनी के अध्यक्ष एवं प्रबंध निदेशक सहित सभी पूर्णकालिक निदेशक।

ख) कानून के प्रावधानों के तहत स्वतंत्र निदेशकों सहित सभी अंशकालिक निदेशकों।

ग) वरिष्ठ प्रबंधन

2.1   पूर्णकालिक निदेशकों और वरिष्ठ प्रबंधन को कंपनी में अनुपालन हेतु अन्य लागू / लागू करने वाले  नीतियों, नियमों और प्रक्रिया  को जारी रखना चाहिये ।

2.2    ऊपर संशोधित नियमों 1 अक्टूबर 2007 से प्रभावी है ।

3.0   कोड की विषय-वस्तु :

भाग – I    सामान्य नैतिक आदेशक

भाग – II   विशिष्ट व्यावसायिक उत्तरदायित्व

भाग- III  बोर्ड के सदस्यों और वरिष्ठ प्रबंधन के लिए विशिष्ट अतिरिक्त प्रावधान

इस कोड को पेशेवर काम के संचालन में नैतिक निर्णय लेने हेतु एक आधार के रूप में लेने का इरादा है। पेशेवर नैतिक मानकों के उल्लंघन से संबंधित एक औपचारिक शिकायत की योग्यता को पहचानने के लिए भी इसे एक आधार के रूप में लिया जा सकता हैं ।

यह समझा जाता है कि नैतिकता और आचरण दस्तावेज़ के कोड में कुछ शब्द और वाक्यांशों अलग-अलग व्याख्याओं के अधीन हैं। किसी भी विरोध में बोर्ड का निर्णय अंतिम होगा।

भाग – I

4.0            सामान्य नैतिक आदेशक

4.01       समाज तथा मानव कल्याण के लिये अभिदान

4.1.1  सभी लोगों के जीवन की गुणवत्ता के विषय में यह सिद्धांत, मौलिक मानवाधिकारों की रक्षा के लिए और सभी संस्कृतियों की विविधता का सम्मान करने का दायित्व की पुष्टि करता है । हमें  यह सुनिश्चित करना है कि हमारे प्रयासों के उत्पादों सामाजिक रूप से जिम्मेदार तरीके में होगा,  सामाजिक जरूरतों को पूरा करेगा और स्वास्थ्य और दूसरों के कल्याण के लिए हानिकारक प्रभाव से दूर रहेगा । एक सुरक्षित वातावरण के अलावा, मानव कल्याण में एक सुरक्षित प्राकृतिक वातावरण भी शामिल है।

4.1.2  इसलिए, सभी बोर्ड के सदस्य और वरिष्ठ प्रबंधन जो डिजाइन, विकास, निर्माण और कंपनी के उत्पादों के संवर्धन  के लिए उत्तरदायी  हैं,  उन्हें मानव जीवन तथा वातावरण के सुरक्षा और संरक्षन के लिये कानुनी तथा नैतिक दायित्व पालन करने के लिये स्वयं सतर्क रहना पड़ेगा तथा दूसरों को भी जागरुक करना पड़ेगा ।

4.2     ईमानदार और भरोसेमंद और अखंडता का अभ्यास

4.2.1 निष्ठा और ईमानदारी,  विश्वास का अत्यावश्यक घटक हैं। विश्वास के बिना एक संगठन प्रभावी ढंग से कार्य नहीं कर सकता।

4.2.2  सभी बोर्ड के सदस्य तथा वरिष्ठ प्रबंधन से बीवीएफसीएल के कार्य संचालन में , निजी और पेशेवर निष्ठा, ईमानदारी और नैतिक आचरण के उच्चतम मानकों के अनुसार कार्य करने की अपेक्षा है ।

 4.3   निष्पक्ष होना और कार्रवाई में भेदभाव नहीं रखना

4.3.1  समानता, सहिष्णुता, दूसरों के प्रति सम्मान, और बराबर न्याय के सिद्धांतों से  इस आदेशक  नियंत्रित है । जाति, लिंग, धर्म, जाति, उम्र, विकलांगता, राष्ट्रीय मूल या अन्य ऐसे कारकों पर आधारित  भेदभाव इस संहिता का एक स्पष्ट उल्लंघन है।

4.4     गोपनीयता को मर्यादा

4.4.1  ईमानदारी के सिद्धांत सूचना की गोपनीयता के मुद्दों तक विस्तारित है। नैतिक चिंता में  सभी हितधारकों के गोपनीयता का सम्मान करना है, जब तक कानून या इस संहिता के अन्य सिद्धांतों की आवश्यकताओं के द्वारा इस तरह के दायित्वों से मुक्त न करें ।

4.4.2   इसलिए सभी बोर्ड के सदस्य और वरिष्ठ प्रबंधन, बीवीएफसीएल के व्यापार और मामलों के विषय में सभी गोपनीय अप्रकाशित जानकारी की गोपनीयता सुरक्षित रखेगा ।

4.5   शपथ और अभ्यास

4.5.1  क्रियाकलाप  के सभी क्षेत्रों में ईमानदारी और पारदर्शिता लाने के लिए लगातार प्रयास जारी रखना ।

4.5.2  जीवन के सभी क्षेत्रों में भ्रष्टाचार के उन्मूलन के लिए पूर्ण रूप से  काम करना ।

4.5.3  सतर्क रहना  और बीवीएफसीएल की विकास तथा ख्याति  की दिशा में काम करना ।

4.5.4  संगठन के लिए गर्व लाना और कंपनी के शेयरधारकों के लिए मूल्य-आधारित सेवाएं प्रदान करना ।

4.5.5  अंतर्विवेकशील रूप से और बिना किसी भय अथवा पक्षपात से कर्तव्य धर्म निभाना ।

 

भाग –II

5.0    विशिष्ट व्यावसायिक जिम्मेदारियों

5.1   ब्रह्मपुत्र वैली फर्टिलाइजर कॉर्पोरेशन लिमिटेड (बीवीएफसीएल) के दृष्टि, मिशन और मूल्यों से हर दिन सजीव रहें । द्रुत संदर्भ के लिए वे इस प्रकार हैं:

दृष्टि

हितधारकों के मान बढ़ाने हेतु वचनबद्ध  एक विश्व  स्तर के उर्वरक उद्द्योग बनाने की दृष्टि से बीवीएफसीएल समाविष्ट है ।

मिशन 

  • उर्वरक का दक्षतापूर्वक , किफायती और पर्यावरण अनुकूल ढंग  से उत्पादन करना ।
  • स्वयं को लाभ अर्जित करने वाले  उद्यम के रूप में स्थापित करना ।
  • देश की रणनीतिक रूप से महत्वपूर्ण उत्तर पूर्वी भागों के सर्वांगीण समुन्नति  के लिए कार्य करना।
  • अन्य औद्योगिक उत्पादों के उत्पादन में विविधीकरन करना ।
  • क्षेत्र में संतुलित आर्थिक विकास करना ।

     मूल्य

हम अपने कार्यों और कर्तव्य को:

  • निष्ठा
  • गति
  • समता
  • अखंडता
  • पारदर्शिता

और बिना किसी भय या पक्षपात से करेंगे  ।

5.1 पेशेवर काम के प्रक्रिया और उत्पाद दोनों में उच्चतम गुणवत्ता, प्रभावशीलता और गरिमा को प्राप्त करने के प्रयास ।

 उत्कृष्टता शायद एक पेशेवर के सबसे महत्वपूर्ण दायित्व है। हर कोई व्यक्ति को , इसलिए, अपने पेशेवर काम में उच्चतम गुणवत्ता, प्रभावशीलता और गरिमा को प्राप्त करने के लिए प्रयास करना चाहिए।

 5.2  पेशेवर सक्षमता अर्जन करना और बनाए रखना:

 उत्कृष्टता निर्भर करता है उन व्यक्तियों पर जो पेशेवर सक्षमता को प्राप्त करने और बनाए रखने के लिए जिम्मेदारी लेते हैं ।, इसलिए,  सभी से,   सक्षमता के उचित स्तर पर मानकों की स्थापना में भाग लेने और उन मानकों को प्राप्त करने का प्रयास करने के लिए अपेक्षा हैं।

5.3  कानूनों के अनुपालन:

बीवीएफसीएल के बोर्ड  सदस्य और वरिष्ठ प्रबंधन मौजूदा स्थानीय, राज्य, राष्ट्रीय और अंतरराष्ट्रीय कानूनों के लागू सभी प्रावधानों का अनुपालन करेगें। उन्होंने बीवीएफसीएल के व्यापार से संबंधित नीतियों, प्रक्रियाओं, नियमों का भी पालन करेगें ।

5.4  उपयुक्त पेशेवर समीक्षा स्वीकार करें और प्रदान करें :

गुणवत्ता पेशेवर काम पेशेवर समीक्षा और टिप्पणियों पर निर्भर करता है। जब भी उपयुक्त हो, व्यक्तिगत सदस्यों को सहकर्मी की समीक्षा का तलाश करना तथा साथ ही उनकी काम की महत्वपूर्ण समीक्षा प्रदान करना चाहिए।

5.5      कार्यकारी जीवन की गुणवत्ता को बढ़ाने के लिए कार्मिकों और संसाधनों की व्यवस्था करें।

संगठन के नेताओं यह सुनिश्चित करने के लिये जिम्मेदार हैं कि साथी कर्मचारियों को अपना सर्वश्रेष्ठ देने के लिए सक्षम करने के लिए एक अनुकूल कार्य और कारोबारी माहौल बनें  । बोर्ड के सदस्य और वरिष्ठ प्रबंधन सभी कर्मचारियों के गरिमा सुनिश्चित करने के लिये जिम्मेदार है और वे  सभी आवश्यक सहायता और सहयोग प्रदान द्वारा  बीवीएफसीएल के कर्मचारियों के  पेशेवर  विकास को प्रोत्साहित तथा  समर्थन  करेंगे ।

5.6  ईमानदार रहें  और किसी भी प्रलोभन से दूर रहें :

बोर्ड के सदस्य और वरिष्ठ प्रबंधन, प्रत्यक्ष या परोक्ष रूप से उनके परिवार और अन्य संयोग  के माध्यम से, किसी भी व्यक्तिगत फीस, कमीशन या कंपनी से जुड़े लेनदेन से उत्पन्न पारिश्रमिक के अन्य रूप नहीं मांगेगे । इनमें  कोई उपहार या महत्वपूर्ण मूल्य के अन्य लाभ, भी शामिल है ।

 

5.7  कॉर्पोरेट अनुशासन का पालन करें :

 बीवीएफसीएल में संचार के प्रवाह कठोर नहीं है और लोगों सभी स्तरों पर अपना  अभिव्यक्त करने के लिए स्वतंत्र हैं । हालांकि एक निर्णय पर पहुंचने के लिये भिन्न मतों का मुक्त विनिमय होता है, पर  बहस के परिणाम  एक सहमत नीति स्थापित होने के बाद , सभी को उक्त नीति पालन करना है, जब कि ब्यक्तिगत रूप से इस पर कोई  सहमत न भी हो ।

5.8  ऐसे  ढंग से आचरण करें  जहां  कंपनी के श्रेय को दर्शाया जाए:

कर्तव्य में रहे या न रहे , सभी को इस ढंग से आचरण करना चाहिये कि कंपनी के श्रेय  को दर्शाया जाए  । सभी का व्यक्तिगत दृष्टिकोण और व्यवहार के कुल योग कंपनी की स्थिति से संबंधित है जिस तरह इसे संगठन के अंदर और बड़े पैमाने पर जनता द्वारा माना जाता है ।

5.9  कंपनी के हितधारकों के प्रति उत्तरदायी  होना :

उन सभी जिनके लिये  हम सेवा प्रदान करते हैं, जैसे – हमारे ग्राहकों, जिनके बिना कंपनी के कारोबार में नहीं चलता , शेयरधारकों  जो अपने कारोबार में एक महत्वपूर्ण हिस्सेदार है, कर्मचारियों जो निहित स्वार्थ यह सब करते है,   विक्रेताओं , जो समय पर  कंपनी को समर्थन करते हैं और समाज जिसके प्रति कंपनी अपने कार्यों के लिए जिम्मेदार है – ये सभी कंपनी के हितधारक हैं। इसलिए सभी को हर समय याद रखना है कि वे कंपनी के हितधारकों के प्रति उत्तरदायी हैं ।

5.10   व्यापार के जोखिम को पहचानें,  कम करें  और प्रबंध करें :

संचालन में  होनेवाला जोखिम को पहचान करने हेतु कंपनी के जोखिम प्रबंधन ढांचे का पालन करना  हर किसी की जिम्मेदारी है । कंपनी का व्यापक व्यापार के लक्ष्य को हासिल करने के लिये सभी को जोखिम प्रबंधन में सहायता करना चाहिये ।

5.11 कंपनी के सम्पत्तिओं को संरक्षण करना  :

बोर्ड के सदस्य और वरिष्ठ प्रबंधन कंपनी के भौतिक संपत्ति, सूचना और बौद्धिक अधिकारों सहित सभी संपत्ति की रक्षा करेगा और व्यक्तिगत लाभ के लिए उपयोग नहीं करेगा।  

 

 

 

भाग- III

6.0   बोर्ड के सदस्य और वरिष्ठ प्रबंधन के लिए विशिष्ट अतिरिक्त प्रावधान

 6.1   बोर्ड के सदस्य और वरिष्ठ प्रबंधन के रूप में: वे सक्रिय रूप से बोर्ड और समितियों की बैठकों में भाग लेने के लिए वचनबद्ध होंगे ।

 6.2    बोर्ड के सदस्य के रूप में;

 6.2.1 वे कम्पनी के अध्यक्ष और प्रबंध निदेशक / कंपनी सचिव को ये सूचित करने के लिये वचनबद्ध होंगे – उनके अन्य बोर्ड पदों में किसी भी बदलाव,  अन्य व्यापार और अन्य घटनाओं / परिस्थितियों / शर्तों के साथ संबंध  जिससे बोर्ड / बोर्ड समिति के रूप में  कर्तव्यों का पालन के समय उनकी क्षमता के साथ हस्तक्षेप हो सके , या,  बोर्ड के ऐसे फैसले को प्रभावित कर सके जहां  उन्हें स्टॉक एक्सचेंजों तथा डीपीई के दिशा निर्देशों पूरा करने के लिए के जरूरी  लिस्टिंग समझौते की स्वतंत्र आवश्यकताओं को प्राप्त करना हो ।

 6.2.2   वचनबद्ध होंगे कि बोर्ड के अनासक्त सदस्यों के पूर्व अनुमोदन के बिना, वे किसी भी आभासी स्वार्थ संघर्ष से दूर रहेंगे । व्यक्तिगत स्वार्थ कम्पनी के स्वार्थ को प्रभावित करने से ही स्वार्थ संघर्ष हो सकता है ।  कुछ निदर्शी मामलों इस प्रकार हो सकता है:

–   संबंधित पक्ष के लेनदेन : कंपनी के साथ किसी भी लेनदेन या रिश्ते या जिसमें उनका  वित्तीय या अन्य व्यक्तिगत रुचि है (या तो सीधे या परिवार के किसी सदस्य या संबंध या अन्य व्यक्ति या अन्य संगठन है जिसके साथ वे जुड़े रहे हैं )   

बाहरी निदेशक : किसी भी अन्य कंपनी के निदेशक मंडल में निदेशक पद स्वीकार करना जो  कंपनी के व्यापार के साथ प्रतियोगिता में है  ।

–  परामर्श सेवा / व्यापार / नियोजन : किसी भी गतिविधि ( जैसे  परामर्श सेवा उपलब्ध कराना,  व्यापार चलाना, नियोजन स्वीकार करना) में नियुक्त होना  जिसके कारण कंपनी के प्रति उनके कर्तव्यों / जिम्मेदारियों के साथ हस्तक्षेप या संघर्ष  होनी की संभावना है । उन्हें निवेश करने या किसी भी आपूर्तिकर्ता, कंपनी के ग्राहकों की सेवा प्रदाता के साथ किसी अन्य तरीके से खुद को संबद्ध नहीं करना चाहिए।

–   व्यक्तिगत लाभ के लिए आधिकारिक पद का प्रयोग करें : व्यक्तिगत लाभ के लिए अपनी आधिकारिक स्थिति का उपयोग नहीं करना चाहिए।

6.3   व्यापार आचरण और आचार संहिता का अनुपालन 

6.3.1  कंपनी के बोर्ड और वरिष्ठ प्रबंधन के सभी सदस्य इस संहिता के सिद्धांतों को बनाए रखेंगे  और बढ़ावा देंगे।

संगठन के भविष्य तकनीकी और नैतिक उत्कृष्टता दोनों पर निर्भर करता है। इतना ही नहीं, बोर्ड के सदस्य और वरिष्ठ प्रबंधन, इस संहिता में उल्लिखित सिद्धांतों को जमकर रखना के साथ साथ दूसरों को भी इसका पालन करने के लिए प्रोत्साहित तथा समर्थन करना चाहिए ।

6.3.2     इस संहिता  की उल्लंघन संगठन के साथ असंगत संबंध जैसा विचार करें ।

पेशेवरों को नैतिकता का एक संहिता पर जमे रहना काफी हद तक एक स्वैच्छिक विषय है। फिर भी , अगर बोर्ड के सदस्य या वरिष्ठ प्रबंधन के किसी भी इस संहिता का पालन नहीं करता है, तो इस मामले में बोर्ड द्वारा समीक्षा की जाएगी और इसके निर्णय अंतिम होगा। ऐसे व्यतिक्रमी सदस्य के खिलाफ कंपनी उचित कार्रवाई करने का अधिकार सुरक्षित रखता है।

6.3.3  वार्षिक रिपोर्ट में अध्यक्ष एवं प्रबंध निदेशक द्वारा प्रमाणन

बोर्ड और वरिष्ठ प्रबंधन टीम के हर सदस्य को वार्षिक  आधार पर संहिता का अनुपालन का पुष्टि करना पड़ता है , जो कंपनी की वार्षिक रिपोर्ट में कंपनी के अध्यक्ष एवं प्रबंध निदेशक द्वारा प्रमाणीकरण के लिए आधार बनेगी ।

6.3.4   अनुपालन अधिकारी

कंपनी ने कंपनी सचिव को इस संहिता  को व्यवस्थापित करने के लिए अपनी अनुपालन अधिकारी के रूप में नामित किया है। निदेशक, उनके विवेक पर, इस कोड में किसी भी रिपोर्ट या शिकायत अध्यक्ष और प्रबंध निदेशक (सी एम डी)  या अनुपालन अधिकारी को प्रदान कर सकते हैं। अनुपालन अधिकारी  शिकायतों को उचित रूप में सी एम डी के लिए उल्लेख करेंगे ।

6.4    विविध विषय:

 6.4.1  शिकायतें

 मुख्य सतर्कता अधिकारी (सी वी ओ) शिकायतों के प्राप्ति, प्रतिधारण, और उपचार हेतु  उचित प्रक्रिया गठित करने के लिए जिम्मेदार है। वे लेखा परीक्षा समिति की बैठकों के लिए एक स्थायी आमंत्रित सदस्य हैं। किसी विषय पर संबंधित शिकायत के लिये निदेशकों को सी एम डी या सी वीओ या अनुपालन अधिकारी को भेजने का अनुरोध किया जाता है  हैं जो गोपनीय रूप से  इस तरह की शिकायतों पर विचार करेगा ।

 6.4.2     किसी भी अवैध या अनैतिक व्यवहार रिपोर्ट करना :

 किसी भी कर्मचारी, अधिकारी, या निदेशक द्वारा किए हुए अवैध या अनैतिक व्यवहार अवलोकन पर , या, कंपनी के तरफ से किसीने कार्य  करने की अभिप्रेत पर, जहां कार्य के ढंग पर कोई संदेह हो, तो,  बोर्ड और वरिष्ठ प्रबंधन टीम के सदस्यों को तुरंत सीएमडी या अनुपालन अधिकारी से इसके बारे में संपर्क करने का अनुरोध किया जाता है ।

6.4.3     संहिता के नित्य अद्यतन :

 इस संहिता सतत समीक्षा और कानून में किसी भी परिवर्तन – जैसे कि  कंपनी के दर्शन, दृष्टि, व्यापार की योजना या बोर्ड के विचार में अन्य कोई परिवर्तन – के साथ अद्यतन के अधीन है और ऐसे सभी संशोधनों उसमें उल्लेखित तारीख से भावी प्रभावी होंगे ।

 6.4.4  स्पष्टीकरण की तलाश करने के लिए

 इस संहिता के बारे में कोई स्पष्टीकरण के लिए  बोर्ड या वरिष्ठ प्रबंधन का कोई भी सदस्य कंपनी के अध्यक्ष और प्रबंध निदेशक / कंपनी सचिव से संपर्क कर सकते है।

*****

बोर्ड के सदस्यों और वरिष्ठ प्रबंधन के लिए व्यापार आचार और नैतिकता संहिता की प्राप्ति की पावती

मैं ब्रह्मपुत्र वैली फर्टिलाइजर कॉर्पोरेशन लिमिटेड (बीवीएफसीएल) के बोर्ड के सदस्यों तथा  वरिष्ठ प्रबंधन  के लिए प्रस्तुत किया गया व्यापार आचार और नैतिकता संहिता प्राप्त किया और अध्ययन किया हुं । मैं  इस संहिता में उल्लेखित मानकों और नीतियों समझा  और यह भी समझा कि मेरे काम के लिए  अतिरिक्त नीतियों हो सकता है । मैं व्यापार आचरण और नैतिकता संहिता का अनुपालन करने के लिए सहमत हुं ।

अगर मुझे इस संहिता का किसी अर्थ या प्रयोग से संबंधित किसी विषय,  बीवीएफसीएल के किसी नीति, या,  मेरे काम के लिए जरूरी कानूनी और नियामक में प्रश्न हैं, मैं जानता हूँ कि मुझे बीवीएफसीएल के निदेशक या कंपनी सचिव से परामर्श लेना होगा और मेरा सवाल गोपन रखा जाएगा।

इसके अलावा, मैं निम्नलिखित प्रतिज्ञान सालाना आधार पर मार्च 31 के अंत से 30 दिनों के भीतर कंपनी को प्रदान करने के लिए  वचनबद्ध हुं ।

प्रतिज्ञान

(हर साल 30 अप्रैल से सालाना आधार पर कंपनी के बोर्ड के सदस्य / वरिष्ठ प्रबंधन द्वारा )

मैं, …………………… (नाम) …………………… (पदनाम), बोर्ड के सदस्य और वरिष्ठ प्रबंधन के लिए संहिता को पढ़ने  और समझने के बाद,   सत्यनिष्ठा द्वारा  प्रतिज्ञात करता हुं कि

कि मैं 31 मार्च ‘ ——- में समाप्त वर्ष के  दौरान संहिता के प्रावधानों को पालन किया और किसी भी प्रावधानों को उल्लंघन नहीं किया ।

हस्ताक्षर:

नाम:

पद

कर्मचारी संख्या :

टेलीफ़ोन नंबर।

जगह :

तारीख :

 

शिकायत सेल

कर्मचारी शिकायत निवारण समिति

कर्मचारियों की शिकायत की त्वरित निपटान के लिए बीवीएफसीएल ने एक शिकायत निवारण समिति का गठन किया है। समिति के सदस्यों के नाम और पदनाम  नीचे दिये गये है :

नाम पदनाम
श्री वाई के गोयल, मह प्रबंधक (विपणन) अध्यक्ष
संबंधित मुख्य अभियंता / विभागाध्यक्ष सदस्य
श्री पी के भट्टाचार्य, मुख्य प्रशा. अधिकारी  सदस्य
सुश्री ए छेत्री, वरिष्ठ कार्मिक अधिकारी सदस्य सचिव
FWUN से प्रतिनिधि सदस्य*
NFSU से प्रतिनिधि सदस्य*
 JCO  से प्रतिनिधि सदस्य*

 

* श्रमिक की शिकायत के मामले में मान्यता प्राप्त ट्रेड यूनियन के प्रत्येक से एक नामिती या अधिकारियों की शिकायतों के मामले में अधिकारियों की संयुक्त परिषद (जे.सी.ओ) से एक नामिती ।

उपरोक्त समिति एक महीने में कम से कम एक बार बैठक करेगा  और अध्यक्ष एवं प्रबंध निदेशक ,बीवीएफसीएल,  को अपने निष्कर्षों सूचित करेगा।

 

 

 

 

 

 

 

 

  

उत्पाद

बीवीएफसीएल नामरूप के निम्नलिखित तैयार उत्पाद है:

  1. नीम लेपित यूरिया (ब्रांड नाम: मुक्ता यूरिया)
  2. जैव उर्वरक
  3. वर्मीकम्पोस्ट

अमोनिया मध्यवर्ती उत्पाद है, जो यूरिया के उत्पादन के लिए प्रयोग किया जाता है ।

उपर्युक्त के अलावा हम निम्नलिखित उत्पाद का व्यापार भी करते हैं :

  1. एमओपी (म्युरॉट ओफ पोटाश)
  2. डीएपी (डॉई अमोनियम फास्फेट)
  3. एसएसपी (सिंगल सुपर फास्फेट)
  4. फसल के बीज (धान, गेहूं, चना, सरसों, मसूर)
  5. सब्जी बीज
  6. कीटनाशकों

 

विपणन

बीवीएफसीएल के विपणन इलाका

विपणन नेटवर्क
बीवीएफसीएल मुख्य रूप से यूरिया उर्वरक उत्पादन करता है  और ब्रांड नाम “मुक्ता” यूरिया से विपणन करता है। बीवीएफसीएल चार प्रकार के “मुक्ता-जैव” जैव उर्वरक जैसे Azotobactar, Phosphobactrin, Azospirillum और राइजोबियम भी उत्पादन करता है। । मिट्टी की गुणवत्ता को बढ़ावा देने तथा उत्पादकता बढ़ाने में किसानों को मदद करने हेतु , हम वर्मीकम्पोस्ट और अन्य कार्बनिक खाद उत्पादन  का  एक महत्वाकांक्षी परियोजना शुरू कर दिया है। हम बीज वितरण के लिए स्टेट फार्म कॉर्पोरेशन ऑफ इंडिया (SFCI),  NUNHEMS इंडिया (प्राइवेट) लिमिटेड और उत्तर प्रदेश बीज विकास निगम (UPSDC) के साथ , कीटनाशकों और अपतृणनाशी सहित उनके उत्पाद के विपणन के लिए हिंदुस्तान इंसेक्तिसाइड लिमिटेड (HIL) के साथ,  MOP और DOP विपणन के लिए भारत का  उपक्रम, , राष्ट्रीय केमिकल्स एंड  फर्टिलाइजर्स लिमिटेड (RCF) के साथ और SSP  विपणन के लिए Progressive Fertichem Pvt Ltd  के साथ व्यावसायिक बाँध कर लिए है । कंपनी ने नेपाल के निर्यात यूरिया की आपूर्ति के लिए एमएमटीसी (MMTC) के साथ समझौता किया है। कृषक समुदाय की सेवा में कंपनी की प्रयास  इस तरह से है कि उनके लिए सभी कृषि सामग्री एक ही छत के नीचे में उपलब्ध हों।

बीवीएफसीएल के विपणन इलाका पूरे पूर्वोत्तर क्षेत्र, पश्चिम बंगाल, बिहार और झारखंड के आंशिक क्षेत्र तक विस्तृत है । बेहतर गुणवत्ता, अच्छी पैकेजिंग और क्षेत्र की प्रमुख फसलों के साथ अनुकूलता की वजह से बीवीएफसीएल अपनी इलाका के किसान समुदाय के मन में एक अलग वरीयता प्राप्त है। सु प्रशिक्षित विपणन अधिकारियों को गठित एक व्यापक विपणन नेटवर्क द्वारा क्षेत्र विपणन क्रियाकलाप का देख-भाल किया जाता है। 90% से अधिक की बाजार हिस्सेदारी से साथ बीवीएफसीएल पूर्वोत्तर क्षेत्र में प्रमुख उर्वरक पूर्तिकार है।

बीवीएफसीएल का कॉर्पोरेट विपणन कार्यालय नामरूप में स्थित है, और, गुवाहाटी, सिलीगुड़ी और पटना में स्थित विपणन कार्यालयों के द्वारा अपने विपणन क्रियाकलाप में समन्वय रखने के साथ साथ  क्रमश: उत्तर पूर्वी राज्यों, पश्चिम बंगाल और बिहार के लिए बीवीएफसीएल यूरिया की आवश्यकता को पूरा करने के लिए काम किया जाता है। सहकारी समितियां / संस्थागत ख़रीददारों एवं निजी डीलरों सहित 583 के आसपास डीलरों से गठित कंपनी का अपना डीलर नेटवर्क है। इस प्रकार व्यापक पहुंच और अपने उत्पादों की बेहतर विपणन के लिए कंपनी के निजी / सहकारी / कृषि केन्द्र सम्मिलित एक सु-विस्तृत डीलर नेटवर्क है।

 

 

 

बीवीएफसीएल के विपणन कार्यालयों

नामरूप कार्यालय
संपर्क सूत्र वाई. के. गोयल, महाप्रबंधक (विपणन)
ईमेल: ykgoel@bvfcl.co.in
पता बी.वी.एफ.सी. लिमिटेड, विपणन विभाग,नामरूप,

डाक:  पर्बतपुर – 786623,
जिला: डिब्रूगढ़, असम।

फ़ोन    0374 – 2507066, +91  9435474773
गुवाहाटी कार्यालय
संपर्क सूत्र पी.के. शर्मा,  उप प्रबंधक (विपणन)

ईमेल: mktgghy@bvfcl.co.in

पता बी.वी.एफ.सी. लिमिटेड, हाउस नंबर 21 (ग्राउंड फ्लोर)

उषा नगर पथ के पास सुपर मार्केट,
दिसपुर, गुवाहाटी-781006, असम।

फ़ोन 0361 – 2225548, +91 9864295626
पटना कार्यालय
संपर्क सूत्र अजित सिंह, एरिया मैनेजर (मार्केटिंग)

ईमेल आईडी:

पता बी.वी.एफ.सी. लिमिटेड, उदयपुरा हाउस,

मकान संख्या 229-बी,
एस के पुरी, साहदेओ माहातो रोड,
पटना-800001, बिहार।

फ़ोन 0612 – 2208599, 09334391021
कोलकाता सम्पर्क कार्यालय
संपर्क सूत्र पिनाकी चक्रवर्ती

ईमेल आईडी: lokolkata@bvfcl.co.in

पता बी.वी.एफ.सी. लिमिटेड, फ्लैट नं 13 – 14

हैरिंगटन हवेली,
8, हो सी मिन सरणी
कोलकाता – 71
पश्चिम बंगाल

फ़ोन 033 – 22824239, 22820515, 08902499969

वितरण एवं भण्डारण
बीवीएफसीएल यूरिया सड़क और रेलपथ दोनों द्वारा कारखाने से क्षेत्र गोदाम तक  पहुंचाया जाता है। कम समय में दूर स्थानों तक पहुंचाने की जरूरत के आधार पर रेल का सहारा लिया जाता है । बीवीएफसीएल के नामरूप – II और III इकाइयों में अपनी रेल साइडिंग की व्यवस्था है ।  सभी राज्यों को बीवीएफसीएल यूरिया की आपूर्ति के लिए परिवहन के लागत प्रभावी मोड को अपनाया जाता है। परिवहन लागत को नियंत्रित करने के लिए बीवीएफसीएल न्यूनतम लागत माड्यूल को  अनुसरण करता है।

उर्वरक उत्पादन एक सतत प्रक्रिया है, लेकिन यूरिया की खपत मौसमी है जिसमें परिवहन, भंडारण और वितरण बहुत महत्वपूर्ण प्रतिपादन है। सही मात्रा में सही जगह पर सही समय पर सही उत्पाद विपणन और वितरण का सबसे महत्वपूर्ण पहलू है। इस लक्ष्य पूरण के लिए, बीवीएफसीएल सबसे अच्छा संभव तरीके से किसानों की ज़रूरतों को पूरा करने के लिए विपणन क्षेत्र के  निर्णायक स्थानों पर राज्य भण्डार निगम, केंद्रीय भंडार निगम के गोदामों और निजी डीलरों के गोदामों को किराये में लेता है।

खेत सेनाओं
बीवीएफसीएल नियमित रूप से कृषि विभाग तथा विश्वविद्यालयों के विशेषज्ञों को शामिल करके आधुनिक कृषि तकनीकी के विभिन्न पहलू पर किसानों को प्रशिक्षित करने के लिए ग्राम स्तर पर कृषक प्रशिक्षण कार्यक्रम का आयोजन करता आया है । बीवीएफसीएल कृषि से संबंधित प्रदर्शनी / मेलों में भी भाग लेता है। क्षेत्र प्रशिक्षण कार्यक्रमों में , किसानों को अपने क्षेत्र से मिट्टी के नमूने लाने एवं सरकारी प्रयोगशाला में मृदा परीक्षा करवाने के लिए प्रोत्साहित किया जाता है ताकि वे  फसल उत्पादन एवं अधिक लाभ के लिए  उर्वरकों के संतुलित उपयोग पर सुनिश्चित हो सके । उत्पाद के संवर्धन और प्रचार के लिए आसपास के कई गाँवों अपनाया जाता है और बड़े पैमाने पर विशेष प्रचार किया जाता है ।

 

संयंत्र हाइलाइट्स

संयंत्र सूचना

वर्तमान में बीवीएफसीएल के सक्रिय संयंत्रों इस प्रकार हैं:

संयंत्र / उत्पाद पुनर्गठन के बाद
पुनर्गठन पूर्व

मूलत: संस्थापित

क्षमता ह्रास करने पर (प्रभावी तारीख 11/01/1994)
वार्षिक

( टन )

दैनिक

(टन )

वार्षिक (टन) दैनिक (टन) वार्षिक (टन) दैनिक (टन)
अमोनिया- II 198,000 600 122,400 371 144000 480
अमोनिया – III 198,000 600 198,000 600 167,400 558
यूरिया – II 330000 1000 190000 576 240000 800
यूरिया – III 385000 1167 330000 1000 270000 900

 

 

पर्यावरण सूचना

·         2016-17 के लिए पर्यावरण विवरण

·         छमाही के अनुपालन रिपोर्ट (जनवरी’17 – जून’17)

·         अर्धवार्षिक पर्यावरण निकासी रिपोर्ट (अप्रैल’16 – सितम्बर’16)

ब्रह्मपुत्र  वैली फर्टिलाइजर कारपोरेशन लिमिटेड (बीवीएफसीएल) डिब्रूगढ़ जिले के दक्षिण पूर्वी सीमा में असम के सुदूर पूर्वी भाग में स्थित है। इसके अक्षांश और देशांतर हैं क्रमशः 27 0 10 / उ. एवं 95 0 21 / पू. और माध्य समुद्र तल से 123 मीटर की ऊंचाई पर स्थित है ।

उत्पन्न / संग्रहीत खतरनाक अपशिष्ट के नाम और उसके मात्रा नीचे दिए गए हैं:

नाम मात्रा (पर 31.03.17 के रूप में)
(क) भुक्तशेष उत्प्रेरक
(ख) प्रयुक्त तेल
(ग) निराकृत लीड एसिड बैटरी(घ) क्रोमेट कीचड़
(ई) आर्सेनिक कचरे(च) अपशिष्ट तेल
201.96 मेट्रिक टन
12.37 किलो लिटर
332 Nos.40930 किलोग्राम
850 एम 3शून्य

* कूलिंग टॉवर्स में पूर्व प्रचलित क्रोमेट आधारित निर्वाह प्रणाली से क्रोमेट कीचड़ उत्पन्न होने के कारण वह प्रणाली सम्पूर्ण बंद करके गैर-क्रोमेट पॉलिमार आधारित निर्वाह प्रणाली को अपनाया गया ।

** पुनरुत्थान योजना के पहले ही 1994 वर्ष से नामरूप – II इकाई का प्रचालन रोकने के साथ साथ  आर्सेनिक कीचड़ उत्पन्न बंद हुआ । नामरूप – II इकाई का पुनरुत्थान किया गया  और नवम्बर 2005 में प्रचालन का पुन: प्रारंभ  हुआ, पर गैर आर्सेनिक प्रकार Glycine प्रक्रिया अपनाने हेतु आर्सेनिक कीचड़ उत्पन्न  पूरी तरह से बंद हुआ।

*** खतरनाक अपशिष्टों को केन्द्रीय प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड द्वारा प्राधिकृत और पंजीकृत प्रतिस्थान को ही बेचा जाता है।

संचालित एवं संग्रहित  खतरनाक रासायनिक पदार्थों :

पदार्थ भंडारण क्षमता सर्वोच्च मात्रा

उत्पादित / खपत

होर्टन स्फियर के लिए लाइसेंस
अमोनिया (नामरूप- III) 1500 मेट्रिक टन (सर्वोच्च) 558 मेट्रिक टन प्रति दिन S/HO/AS/ 03/14 (S1478)
अमोनिया (नामरूप II) 1500 मेट्रिक टन (सर्वोच्च) 480 मेट्रिक टन प्रति दिन S/HO/AS/ 03/15 (S1479)
सल्फ्यूरिक एसिड (केवल खरीदी)  

80 मेट्रिक टन (नामरूप- III) और  42 मेट्रिक टन (नामरूप II)

आवश्यकता के अनुसार खरीदी

* उपर्युक्त अमोनिया संग्रहण पात्रों के लिए कोई परीक्षण नियत नहीं है

खतरनाक अपशिष्ट : प्राधिकरण सं.  WB / OTWA / HW-43 / 04-05 / 54/681  दिनांक 26.06.14,  अगले 5 वर्षों की वैधता के साथ ।

अपशिष्ट का प्रकार भण्डार

दिनांक 31/03/2016  के अनुसार

मात्रा 2016-17 के दौरान उत्पन्न मात्रा संग्रहित (31.03.17 के अनुसार)
धातु अपशिष्ट (भुक्तशेष  उत्प्रेरक) 201.96 मेट्रिक टन शून्य 201.96 मेट्रिक टन
प्रयुक्त तेल 30.745 किलो लीटर 1.125 किलो लीटर  

12.37 किलो लीटर

(निपटाई गई 19.50 किलो लीटर)

अपशिष्ट तेल 5.00 किलो लीटर 10.00 किलो लीटर  

शून्य

(निपटाई गई 15.00 किलो लीटर)

क्रोमेट अपशिष्ट 40.929  मेट्रिक टन
आर्सेनिक अपशिष्ट 850.00 एम 3
निराकृत लीड एसिड बैटरी 315 17 332 सं।

 

खतरनाक अपशिष्ट भंडारण स्थल के निकट उप-मृदा जल (दिनांक 31.03.17 में)

pH 6.5 – 6.8
अमोनिया नाइट्रोजन (औसत) 50
क्रोमेट शून्य
आर्सेनिक शून्य
ऑन-साइट आपात योजना और आपसी सहायता योजना अपडेट किया गया और सक्रिय
पीएलआई अधिनियम के तहत पॉलिसी:  एनआईसी पॉलिसी सं: 200402/46/17/1200000005,  31/03/2018 तक मान्य
जल और वायु अधिनियम के तहत संचालित करने के लिए सहमति: WB / DIB / T -200 / Pt.- I / 14-15 / 164 दिनांक 15/05/2017  (31/03/2018 तक मान्य)

 

 

 

 

 

 

 

 

उर्वरक माँग फार्म

















 

 

व्यवसाय के अवसर

उपलब्ध व्यापार अवसर

बीवीएफसीएल निम्नलिखित सुविधाएं हैं:

  1. उत्पाद्न :
  1. नीम लेपित यूरिया
  2. वर्मी खाद और जैव उर्वरक
  1. विपणन और व्यापार:
  1. यूरिया वितरण और बिक्री
  2. व्यापार

क) कीटनाशक

ख) उर्वरक: डीओपी, एसएसपी, एमओपी

ग) धान, गेहूं और सब्जी के बीज
<

प्रतिक्रिया

हमें बताएँ कि आप हमारी वेब साइट है, हमारे उत्पादों, हमारे संगठन, या अन्य बारे में क्या सोचते हैं। हम आपके सभी टिप्पणी और सलाहों का स्वागत करते हैं।
आप किस तरह का टिप्पणी भेजना चाहते हैं?

 

 

 

कल्याण

  • साठ बेड सहित एक अस्पताल
  • 07 संख्यक विद्यालय
  • एक स्टेडियम
  • एक इंडोर स्टेडियम
  • एक दैनिक बाज़ार
  • दो मनोरंजन क्लब
  • पीने का पानी
  • अनुदान

चित्र प्रदर्शनी