आचार संहिता

निदेशकों और वरिष्ठ प्रबंधन के लिए आचार संहिता

ब्रह्मपुत्र वैली फर्टिलाइजर कॉरपोरेशन लिमिटेड

निदेशक बोर्ड के सदस्यों और वरिष्ठ प्रबंधन के लिए आचार संहिता सार्वजनिक उद्यम विभाग द्वारा जारी किये गए सेंट्रल पब्लिक सेक्टर एंटरप्राइजेज के  कॉरपोरेट गवर्नेंस पर दिशा निर्देश, 2007,  के आधार पर बनाया गया है।

 

ब्रह्मपुत्र वैली फर्टिलाइजर कॉरपोरेशन लिमिटेड (बाद में “कंपनी” या “बीवीएफसीएल” के रूप में उल्लेखित ) व्यापार और नैतिक आचरण के उच्चतम मानकों को बनाए रखने के लिए प्रतिबद्ध है। इस कोड उस व्यवहार के सिद्धांतों को दर्शाता है जो इस प्रतिबद्धता का समर्थन करता  है। निदेशक मंडल कोड में निहित आचरण के मानक स्थापित करने के लिए और कानूनी और नियामक आवश्यकताओं के अनुसार उचित रूप में इन मानकों को अद्यतन करने के लिए जिम्मेदार है। प्रत्येक निदेशक को इस कोड को  पढ़ना  और अपनी जिम्मेदारियों का पालन करने हेतु  इसे समझना पड़ता  है। सेबी / कंपनी अधिनियम / डीपीई दिशा निर्देशों की आवश्यकता के अनुसार, प्रत्येक निदेशक इस संहिता के पालन के लिए उत्तरदायी  है।

 

1. परिभाषाएं :

i) बोर्ड या निदेशक मंडल या निदेशक का अर्थ – इसमें कार्यकारी या गैर कार्यकारी , या , स्वतंत्र या गैर स्वतंत्र सभी निर्देशकों और संहिता के प्रयोज्यता के उद्देश्य से, , वरिष्ठ प्रबंधन कार्मिकों  शामिल हैं ।

ii) “पूर्णकालिक निदेशक” या “कार्यात्मक निदेशक” का अर्थ कंपनी के निदेशक, जो कंपनी के पूर्णकालिक नियोजन में हैं ।

iii) “अंशकालिक निदेशकों” का अर्थ कंपनी के निदेशक, जो कंपनी के पूर्णकालिक  नियोजन में नहीं हैं ।

iv) “वरिष्ठ प्रबंधन” का अर्थ है निदेशक मंडल को छोड़कर जो कंपनी के मूल प्रबंधन टीम के सदस्य हैं और पूर्णकालिक निदेशकों से एक स्तर नीचे कंपनी द्वारा निर्णित सभी कार्यात्मक शीर्ष अधिकारीओं सहित सभी सदस्यों ।

v) “संबंधी” का अर्थ कंपनी अधिनियम, 1956 की धारा 6 में परिभाषित अनुसार ही होगा।

 नोट: इस कोड में शब्दों के लिंगभेद या वचन भेद नहीं है ।

2.   प्रयोज्यता :

2.0   इस कोड को निम्न कार्मिकों पर लागू होगी:

क) कंपनी के अध्यक्ष एवं प्रबंध निदेशक सहित सभी पूर्णकालिक निदेशक।

ख) कानून के प्रावधानों के तहत स्वतंत्र निदेशकों सहित सभी अंशकालिक निदेशकों।

ग) वरिष्ठ प्रबंधन

2.1   पूर्णकालिक निदेशकों और वरिष्ठ प्रबंधन अन्य लागू / अनुपालन करने के लिए लागू नीतियों, नियमों और कंपनी की प्रक्रियाओं को जारी रखना चाहिये ।

2.2    ऊपर संशोधित नियमों 1 अक्टूबर 2007 से प्रभावी है ।

3.0   कोड की विषय-वस्तु :

भाग – I    सामान्य नैतिक आदेशक

भाग – II   विशिष्ट व्यावसायिक जिम्मेदारियां

भाग- III  बोर्ड के सदस्यों और वरिष्ठ प्रबंधन के लिए विशिष्ट अतिरिक्त प्रावधान

इस कोड को पेशेवर काम के संचालन में नैतिक निर्णय लेने हेतु एक आधार के रूप में लेने का इरादा है। पेशेवर नैतिक मानकों के उल्लंघन से संबंधित एक औपचारिक शिकायत की योग्यता को पहचानने के लिए भी इसे एक आधार के रूप में लिया जा सकता हैं ।

यह समझा जाता है कि नैतिकता और आचरण दस्तावेज़ के कोड में कुछ शब्द और वाक्यांशों अलग-अलग व्याख्याओं के अधीन हैं। किसी भी विरोध में बोर्ड का निर्णय अंतिम होगा।

भाग – I

4.0            सामान्य नैतिक आदेशक

4.01       समाज तथा मानव कल्याण के लिये योगदान

4.1.1  सभी लोगों के जीवन की गुणवत्ता के विषय में यह सिद्धांत, मौलिक मानवाधिकारों की रक्षा के लिए और सभी संस्कृतियों की विविधता का सम्मान करने का दायित्व की पुष्टि करता है । हमें  यह सुनिश्चित करना है कि हमारे प्रयासों के उत्पादों सामाजिक रूप से जिम्मेदार तरीके में होगा,  सामाजिक जरूरतों को पूरा करेगा और स्वास्थ्य और दूसरों के कल्याण के लिए हानिकारक प्रभाव से दूर रहेगा । एक सुरक्षित वातावरण के अलावा, मानव कल्याण में एक सुरक्षित प्राकृतिक वातावरण भी शामिल है।

4.1.2  इसलिए, सभी बोर्ड के सदस्य और वरिष्ठ प्रबंधन जो डिजाइन, विकास, निर्माण और कंपनी के उत्पादों के प्रचार के लिए उत्तरदायी  हैं,  उन्हें मानव जीवन तथा वातावरण के सुरक्षा और संरक्षन के लिये कानुनी तथा नैतिक दायित्व पालन करने के लिये स्वयं सतर्क रहना पड़ेगा तथा दूसरों को भी जागरुक करना पड़ेगा ।

4.2     ईमानदार और भरोसेमंद और अखंडता का अभ्यास

4.2.1 निष्ठा और ईमानदारी के विश्वास का आवश्यक घटक हैं। विश्वास के बिना एक संगठन प्रभावी ढंग से कार्य नहीं कर सकता।

4.2.2  सभी बोर्ड के सदस्य तथा वरिष्ठ प्रबंधन से बीवीएफसीएल के कार्य संचालन में , निजी और पेशेवर निष्ठा, ईमानदारी और नैतिक आचरण के उच्चतम मानकों के अनुसार कार्य करने की अपेक्षा है ।

 4.3   निष्पक्ष होना और कार्रवाई में भेदभाव नहीं रखना

4.3.1  समानता, सहिष्णुता, दूसरों के प्रति सम्मान, और बराबर न्याय के सिद्धांतों से  इस आदेशक  नियंत्रित है । जाति, लिंग, धर्म, जाति, उम्र, विकलांगता, राष्ट्रीय मूल या अन्य ऐसे कारकों पर आधारित  भेदभाव इस संहिता का एक स्पष्ट उल्लंघन है।

4.4     गोपनीयता को मर्यादा

4.4.1  ईमानदारी के सिद्धांत जानकारी की गोपनीयता के मुद्दों तक विस्तारित है। नैतिक चिंता में  सभी हितधारकों के गोपनीयता का सम्मान करना है, जब तक कानून या इस संहिता के अन्य सिद्धांतों की आवश्यकताओं के द्वारा इस तरह के दायित्वों से मुक्त न करें ।

4.4.2   इसलिए सभी बोर्ड के सदस्य और वरिष्ठ प्रबंधन, बीवीएफसीएल के व्यापार और मामलों के विषय में सभी गोपनीय अप्रकाशित जानकारी की गोपनीयता सुरक्षित रखेगा ।

4.5   शपथ और अभ्यास

4.5.1  क्रियाकलाप  के सभी क्षेत्रों में ईमानदारी और पारदर्शिता लाने के लिए लगातार प्रयास जारी रखना ।

4.5.2  जीवन के सभी क्षेत्रों में भ्रष्टाचार के उन्मूलन के लिए पूर्ण रूप से  काम करना ।

4.5.3  सतर्क रहना  और बीवीएफसीएल की विकास और ख्याति  की दिशा में काम करना ।

4.5.4  संगठन के लिए गर्व लाना और कंपनी के शेयरधारकों के लिए मूल्य-आधारित सेवाएं प्रदान करना ।

4.5.5  अंतर्विवेकशील रूप से और बिना किसी भय अथवा पक्षपात से कर्तव्य धर्म निभाना ।

भाग –II

5.0    विशिष्ट व्यावसायिक जिम्मेदारियों

5.1   ब्रह्मपुत्र वैली फर्टिलाइजर कॉर्पोरेशन लिमिटेड (बीवीएफसीएल) के दृष्टि, मिशन और के मूल्यों से हर दिन सजीव रहें । द्रुत संदर्भ के लिए वे इस प्रकार हैं:

         दृष्टि

हितधारकों के मान बढ़ा एक विश्व  स्तर के उर्वरक उद्द्योग बनाने की दृष्टि से बीवीएफसीएल समाविष्ट है ।

        मिशन 

  • उर्वरक का दक्षतापूर्वक , किफायती और पर्यावरण अनुकूल ढंग  से उत्पादन करना ।
  • स्वयं को लाभ अर्जित करने वाले  उद्यम के रूप में स्थापित करना ।
  • देश की रणनीतिक रूप से महत्वपूर्ण उत्तर पूर्वी भागों के सर्वांगीण समुन्नति  के लिए कार्य करना।
  • अन्य औद्योगिक उत्पादों के उत्पादन में विविधीकरन करना ।
  • क्षेत्र में संतुलित आर्थिक विकास करना ।

मूल्य

हम अपने कार्यों और कर्तव्य को:

  • निष्ठा
  • गति
  • समता
  • अखंडता
  • पारदर्शिता

और बिना किसी भय या पक्षपात से करेंगे  ।

5.1 प्रक्रियाओं और पेशेवर काम के उत्पाद दोनों में उच्चतम गुणवत्ता, प्रभावशीलता और गरिमा को प्राप्त करने के प्रयास ।

 उत्कृष्टता शायद एक पेशेवर के सबसे महत्वपूर्ण दायित्व है। हर कोई व्यक्ति को , इसलिए, अपने पेशेवर काम में उच्चतम गुणवत्ता, प्रभावशीलता और गरिमा को प्राप्त करने के लिए प्रयास करना चाहिए।

 5.2  पेशेवर सक्षमता अर्जन करना और बनाए रखना:

 उत्कृष्टता निर्भर करता है उन व्यक्तियों पर जो पेशेवर सक्षमता को प्राप्त करने और बनाए रखने के लिए जिम्मेदारी लेते हैं ।, इसलिए,  सभी से,   सक्षमता के उचित स्तर पर मानकों की स्थापना में भाग लेने और उन मानकों को प्राप्त करने का प्रयास करने के लिए अपेक्षा हैं।

5.3  कानूनों के अनुपालन:

बीवीएफसीएल के बोर्ड  सदस्य और वरिष्ठ प्रबंधन मौजूदा स्थानीय, राज्य, राष्ट्रीय और अंतरराष्ट्रीय कानूनों के लागू सभी प्रावधानों का अनुपालन करेगें। उन्होंने बीवीएफसीएल के व्यापार से संबंधित नीतियों, प्रक्रियाओं, नियमों का भी पालन करेगें ।

5.4  उपयुक्त पेशेवर समीक्षा स्वीकार करें और प्रदान करें :

गुणवत्ता पेशेवर काम पेशेवर समीक्षा और टिप्पणियों पर निर्भर करता है। जब भी उपयुक्त हो, व्यक्तिगत सदस्यों की सहकर्मी की समीक्षा का तलाश करना तथा  समीक्षा का उपयोग करने के साथ ही उनकी काम की महत्वपूर्ण समीक्षा प्रदान करना चाहिए।

5.5      कार्यकारी जीवन की गुणवत्ता को बढ़ाने के लिए कर्मियों और संसाधनों की व्यवस्था करें।

संगठन के नेताओं यह सुनिश्चित करने के लिये जिम्मेदार हैं साथी कर्मचारियों को अपना सर्वश्रेष्ठ देने के लिए सक्षम करने के लिए एक अनुकूल कार्य और कारोबारी माहौल ब्नें  । बोर्ड के सदस्य और वरिष्ठ प्रबंधन सभी कर्मचारियों के गरिमा सुनिश्चित करने के लिये जिम्मेदार है और वे  सभी आवश्यक सहायता और सहयोग प्रदान द्वारा  बीवीएफसीएल के कर्मचारियों के  पेशेवर  विकास को प्रोत्साहित तथा  समर्थन  करेंगे ।

5.6  ईमानदार रहें  और किसी भी प्रलोभन से दूर रहें :

बोर्ड के सदस्य और वरिष्ठ प्रबंधन, प्रत्यक्ष या परोक्ष रूप से उनके परिवार और अन्य संयोग  के माध्यम से, किसी भी व्यक्तिगत फीस, कमीशन या कंपनी से जुड़े लेनदेन से उत्पन्न पारिश्रमिक के अन्य रूप नहीं मांगेगे । इनमें  कोई उपहार या महत्वपूर्ण मूल्य के अन्य लाभ, भी शामिल है ।

 

5.7  कॉर्पोरेट अनुशासन का पालन करें :

 बीवीएफसीएल में संचार के प्रवाह कठोर नहीं है और लोगों सभी स्तरों पर अपना  अभिव्यक्त करने के लिए स्वतंत्र हैं । हालांकि एक निर्णय पर पहुंचने के लिये भिन्न मतों का मुक्त विनिमय होता है, पर  बहस के परिणाम  एक सहमत नीति स्थापित होने के बाद , सभी को उक्त नीति पालन करना है, जब कि ब्यक्तिगत रूप से एसपर कोई  सहमत न भी हो ।

5.8  ऐसे  ढंग से आचरण करें  जहां  कंपनी को विश्व्सनीयता  को दर्शाया जाए:

कर्तव्य में रहे या न रहे , सभी को इस ढंग से आचरण करना चाहिये कि कंपनी को विश्व्सनीयता  को दर्शाया जाए  । सभी का व्यक्तिगत दृष्टिकोण और व्यवहार के कुल योग कंपनी की स्थिति से संबंधित है जिस तरह इसे बड़े पैमाने पर संगठन के भीतर और जनता द्वारा माना जाता है ।

5.9  कंपनी के हितधारकों के प्रति उत्तरदायी  होना :

उन सभी जिनके लिये  हम सेवा प्रदान करते हैं, जैसे – हमारे ग्राहकों, जिनके बिना कंपनी के कारोबार में नहीं चलता , शेयरधारकों  जो अपने कारोबार में एक महत्वपूर्ण हिस्सेदार है, कर्मचारियों जो निहित स्वार्थ यह सब करते है,   विक्रेताओं , जो समय पर  कंपनी को समर्थन करते हैं और समाज जिसके प्रति कंपनी अपने कार्यों के लिए जिम्मेदार है – ये सभी कंपनी के हितधारक हैं। इसलिए सभी को हर समय याद रखना है कि वे कंपनी के हितधारकों के प्रति उत्तरदायी हैं ।

5.10   व्यापार के जोखिम को पहचानें,  कम करें  और प्रबंध करें :

संचालन में  होनेवाला जोखिम को पहचान करने हेतु कंपनी के जोखिम प्रबंधन ढांचे का पालन करना  हर किसी की जिम्मेदारी है । कंपनी का व्यापक व्यापार के लक्ष्य को हासिल करने के लिये सभी को जोखिम प्रबंधन में सहायता करना चाहिये ।

5.11 कंपनी के सम्पत्तिओं को संरक्षण करना  :

 

बोर्ड के सदस्य और वरिष्ठ प्रबंधन कंपनी के भौतिक संपत्ति, सूचना और बौद्धिक अधिकारों सहित सभी संपत्ति की रक्षा करेगा और व्यक्तिगत लाभ के लिए ही उपयोग नहीं करेगा।  

 भाग- III

6.0   बोर्ड के सदस्य और वरिष्ठ प्रबंधन के लिए विशिष्ट अतिरिक्त प्रावधान

 6.1   बोर्ड के सदस्य और वरिष्ठ प्रबंधन के रूप में: वे सक्रिय रूप से बोर्ड और समितियों की बैठकों में भाग लेने के लिए वचनबद्ध होंगे ।

 6.2    बोर्ड के सदस्य के रूप में;

 6.2.1 वे कम्पनी के अध्यक्ष और प्रबंध निदेशक / कंपनी सचिव को ये सूचित करने के लिये वचनबद्ध होंगे – उनके अन्य बोर्ड पदों में किसी भी बदलाव,  अन्य व्यापार और अन्य घटनाओं / परिस्थितियों / शर्तों के साथ संबंध  जिससे बोर्ड / बोर्ड समिति के रूप में  कर्तव्यों का पालन के समय उनकी क्षमता के साथ हस्तक्षेप हो सके , या,  बोर्ड के ऐसे फैसले को प्रभावित कर सके जहां  उन्हें स्टॉक एक्सचेंजों तथा डीपीई के दिशा निर्देशों पूरा करने के लिए के जरूरी  लिस्टिंग समझौते की स्वतंत्र आवश्यकताओं को प्राप्त करना हो ।

 6.2.2   वचनबद्ध होंगे कि बोर्ड के अनासक्त सदस्यों के पूर्व अनुमोदन के बिना, वे किसी भी आभासी स्वार्थ संघर्ष से दूर रहेंगे । व्यक्तिगत स्वार्थ कम्पनी के स्वार्थ को प्रभावित करने से ही स्वार्थ संघर्ष हो सकता है ।  कुछ निदर्शी मामलों इस प्रकार हो सकता है:

 

–   संबंधित पक्ष के लेनदेन : कंपनी के साथ किसी भी लेनदेन या रिश्ते या जिसमें उनका  वित्तीय या अन्य व्यक्तिगत रुचि है (या तो सीधे या परिवार के किसी सदस्य या संबंध या अन्य व्यक्ति या अन्य संगठन है जिसके साथ वे जुड़े रहे हैं )   

बाहरी निदेशक : किसी भी अन्य कंपनी के निदेशक मंडल में निदेशक पद स्वीकार करना जो  कंपनी के व्यापार के साथ प्रतियोगिता में है  ।

 

–  परामर्श सेवा / व्यापार / नियोजन : किसी भी गतिविधि ( जैसे  परामर्श सेवा उपलब्ध कराना,  व्यापार चलाना, नियोजन स्वीकार करना) में नियुक्त होना  जिसके कारण कंपनी के प्रति उनके कर्तव्यों / जिम्मेदारियों के साथ हस्तक्षेप या संघर्ष  होनी की संभावना है । उन्हें निवेश करने या किसी भी आपूर्तिकर्ता, कंपनी के ग्राहकों की सेवा प्रदाता के साथ किसी अन्य तरीके से खुद को संबद्ध नहीं करना चाहिए।

 

–   व्यक्तिगत लाभ के लिए आधिकारिक पद का प्रयोग करें : व्यक्तिगत लाभ के लिए अपनी आधिकारिक स्थिति का उपयोग नहीं करना चाहिए।

 

6.3   व्यापार आचरण और आचार संहिता का अनुपालन

 

 

6.3.1  कंपनी के बोर्ड और वरिष्ठ प्रबंधन के सभी सदस्य इस संहिता के सिद्धांतों को बनाए रखेंगे  और बढ़ावा देंगे।

 

संगठन के भविष्य तकनीकी और नैतिक उत्कृष्टता दोनों पर निर्भर करता है। इतना ही नहीं यह बोर्ड के सदस्य और वरिष्ठ प्रबंधन, इस संहिता में उल्लिखित सिद्धांतों को जमके रखना के साथ साथ लिए दूसरों को भी इसका पालन करने के लिए प्रोत्साहित तथा समर्थन करना चाहिए ।

6.3.2     इस संहिता  की उल्लंघन संगठन के साथ असंगत संबंध जैसा विचार करें ।

 

पेशेवरों को नैतिकता का एक संहिता पर जमे रहना काफी हद तक एक स्वैच्छिक विषय है। फिर भी , अगर बोर्ड के सदस्य या वरिष्ठ प्रबंधन के किसी भी इस संहिता का पालन नहीं करता है, तो इस मामले में बोर्ड द्वारा समीक्षा की जाएगी और इसके निर्णय अंतिम होगा। ऐसे व्यतिक्रमी सदस्य के खिलाफ कंपनी उचित कार्रवाई करने का अधिकार सुरक्षित रखता है।

6.3.3  वार्षिक रिपोर्ट में अध्यक्ष एवं प्रबंध निदेशक द्वारा प्रमाणन

बोर्ड और वरिष्ठ प्रबंधन टीम के हर सदस्य को वार्षिक  आधार पर संहिता का अनुपालनका पुष्टि करना पड़ता है , जो कंपनी की वार्षिक रिपोर्ट में कंपनी के अध्यक्ष एवं प्रबंध निदेशक द्वारा प्रमाणीकरण के लिए आधार बनेगी ।

6.3.4   अनुपालन अधिकारी

कंपनी ने कंपनी सचिव को इस संहिता  को व्यवस्थापित करने के लिए अपनी अनुपालन अधिकारी के रूप में नामित किया है। निदेशक, उनके विवेक पर, इस कोड में किसी भी रिपोर्ट या शिकायत या अनुपालन अधिकारी को प्रदान कर सकते हैं। अनुपालन अधिकारी  शिकायतों को उचित रूप में अध्यक्ष और प्रबंध निदेशक के लिए  उल्लेख करेंगे ।

6.4    विविध विषय:

 6.4.1  शिकायतें

 मुख्य सतर्कता अधिकारी (सीवीओ) शिकायतों के प्राप्ति, प्रतिधारण, और उपचार हेतु  उचित प्रक्रिया गठित करने के लिए जिम्मेदार है। वे लेखा परीक्षा समिति की बैठकों के लिए एक स्थायी आमंत्रित सदस्य हैं। किसी विषय पर संबंधित शिकायत के लिये निदेशकों को सीएमडी या सीवीओ या अनुपालन अधिकारी को भेजने का अनुरोध किया जाता है  हैं जो गोपनीय रूप से  इस तरह की शिकायतों पर विचार करेगा ।

 6.4.2     किसी भी अवैध या अनैतिक व्यवहार रिपोर्ट करना :

 किसी भी कर्मचारी, अधिकारी, या निदेशक द्वारा किए हुए अवैध या अनैतिक व्यवहार अवलोकन पर , या, कंपनी के तरफ से किसीने कार्य  करने की अभिप्रेत पर, जहां कार्य के ढंग पर कोई संदेह हो, तो,  बोर्ड और वरिष्ठ प्रबंधन टीम के सदस्यों को तुरंत सीएमडी या अनुपालन अधिकारी से इसके बारे में संपर्क करने का अनुरोध किया जाता है ।

6.4.3     संहिता के नित्य अद्यतन :

 इस संहिता सतत समीक्षा और कानून में किसी भी परिवर्तन – जैसे कि  कंपनी के दर्शन, दृष्टि, व्यापार की योजना या बोर्ड के विचार में अन्य कोई परिवर्तन – के साथ अद्यतन के अधीन है और ऐसे सभी संशोधनों उसमें उल्लेखित तारीख से भावी प्रभावी होंगे ।

 6.4.4  स्पष्टीकरण की तलाश करने के लिए

 इस संहिता के बारे में कोई स्पष्टीकरण के लिए  बोर्ड या वरिष्ठ प्रबंधन का कोई भी सदस्य कंपनी के अध्यक्ष और प्रबंध निदेशक / कंपनी सचिव से संपर्क कर सकते है।

 

 

*****

बोर्ड के सदस्यों और वरिष्ठ प्रबंधन के लिए व्यापार आचार और नैतिकता संहिता की प्राप्ति की पावती

मैं ब्रह्मपुत्र वैली फर्टिलाइजर कॉर्पोरेशन लिमिटेड (बीवीएफसीएल) के बोर्ड के सदस्यों तथा  वरिष्ठ प्रबंधन  के लिए प्रस्तुत किया गया व्यापार आचार और नैतिकता संहिता प्राप्त किया और अध्ययन किया हुं । मैं  इस संहिता में उल्लेखित मानकों और नीतियों समझा  और यह भी समझा कि मेरे काम के लिए  अतिरिक्त नीतियों हो सकता है । मैं व्यापार आचरण और नैतिकता संहिता का अनुपालन करने के लिए सहमत हुं ।

अगर मुझे इस संहिता का किसी अर्थ या प्रयोग से संबंधित किसी विषय,  बीवीएफसीएल के किसी नीति, या,  मेरे काम के लिए जरूरी कानूनी और नियामक में प्रश्न हैं, मैं जानता हूँ कि मुझे बीवीएफसीएल के निदेशक या कंपनी सचिव से परामर्श लेना होगा और मेरा सवाल गोपन रखा जाएगा।

इसके अलावा, मैं निम्नलिखित प्रतिज्ञान सालाना आधार पर मार्च 31 के अंत से 30 दिनों के भीतर कंपनी को प्रदान करने के लिए  वचनबद्ध हुं ।

प्रतिज्ञान

(हर साल 30 अप्रैल से सालाना आधार पर कंपनी के बोर्ड के सदस्य / वरिष्ठ प्रबंधन द्वारा )

मैं, …………………… (नाम) …………………… (पदनाम), बोर्ड के सदस्य और वरिष्ठ प्रबंधन के लिए संहिता को पढ़ने  और समझने के बाद,   सत्यनिष्ठा द्वारा  प्रतिज्ञात करता हुं कि

कि मैं 31 मार्च ‘ ——- में समाप्त वर्ष के  दौरान संहिता के प्रावधानों को पालन किया और किसी भी प्रावधानों को उल्लंघन नहीं किया ।

हस्ताक्षर:

नाम:

पद

कर्मचारी संख्या :

टेलीफ़ोन नंबर।

जगह :

तारीख :

English English हिन्दी हिन्दी